नई दिल्ली, पीटीआइ। दुनिया की नंबर एक निशानेबाज इलावेनिल वलारिवान को कोटा हासिल करने वाली चिंकी यादव की जगह टोक्यो ओलंपिक के लिए चुनी गई 15 सदस्यीय भारतीय टीम में रविवार को शामिल किया गया। चिंकी ने पिछले महीने दिल्ली विश्व कप में स्वर्ण पदक जीता था। कोविड-19 महामारी के कारण होने वाली अनिश्चितता से निपटने के लिए भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (एनआरएआइ) ने कोटा हासिल होने वाले प्रत्येक वर्ग में दो रिजर्व खिलाड़ियों को रखा है।

प्रतिभाशाली मनु भाकर को महिलाओं की एयर पिस्टल की दोनों स्पर्धाओं में रखा गया है। उन्हें 25 मीटर पिस्टल में अनुभवी राही सरनोबत, जबकि 10 मीटर पिस्टल में यशस्विनी सिंह देसवाल के साथ जगह दी गई है।जापानी राजधानी में 23 जुलाई से आठ अगस्त तक होने वाले इन खेलों में देश का प्रतिनिधित्व करने वाले 15 निशानेबाजों के नामों की घोषणा करने के लिए एनआरएआइ चयन समिति की यहां बैठक हुई।

एनआरएआइ ने चार साल के ओलंपिक क्वालीफाइंग चक्र में निशानेबाजों के प्रदर्शन के आधार पर उनका चयन किया। इसकी शुरुआत 2018 जकार्ता एशियाई खेलों से हुई थी, जिसके बाद विश्व चैंपियनशिप (दोनों 2018 में), 2019 में सभी चार विश्व कप और एशियाई चैंपियनशिप तथा इस साल की शुरुआत में हुए पहले और दूसरे चरण के चयन ट्रायल के प्रदर्शन के आधार पर किया।

एनआरएआइ की घोषित नीति के अनुसार, जकार्ता एशियाई खेलों के साथ शुरू होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में औसतन पांच सर्वश्रेष्ठ स्कोर को अंतिम टीम को चुनते समय ध्यान में रखा गया था। इसके मुताबिक 2018 विश्व चैंपियनशिप से सबसे पहले कोटा हासिल करने वाली भारतीय निशानेबाज अंजुम मोद्गिल और अपूर्वी चंदेला को तेजस्विनी सावंत के साथ महिला राइफल थ्री पोजीशन स्पर्धा में उतारा जाएगा।

अपूर्वी और इलावेनिल महिला 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में भाग लेंगी। चिंकी और अंजुम को 25 मीटर पिस्टल और राइफल थ्री पोजीशन स्पर्धा के लिए रिजर्व में रखा गया है। निशानेबाजी में कोटा देश का होता है ना कि इसे हासिल करने वाले निशानेबाज का।

 

Edited By: Viplove Kumar