जागरण संवाददाता, चरखी दादरी। अर्जुन अवॉर्डी अंतरराष्ट्रीय पहलवान बबीता फौगाट 1 दिसंबर को परिणय सूत्र में बंधने जा रही है। दादरी जिले के गांव बलाली निवासी बबीता फौगाट ने मूलरूप से झज्जर जिले के गांव मातनहेल निवासी व वर्तमान में नजफगढ़ में रह रहे विवेक सुहाग को अपना हमसफर चुना है। गांव बलाली में साधारण समारोह में 1 दिसंबर को शादी की रस्में निभाई जाएंगी। बताया जा रहा है कि वर पक्ष की तरफ से 21 बराती आएंगे।

बबीता के चचेरे भाई राहुल फौगाट ने बताया कि 1 दिसंबर को गांव बलाली में शादी समारोह के बाद 2 दिसंबर को दिल्ली में रिसेप्शन पार्टी होगी। रिसेप्शन पार्टी में खास मेहमान के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी निमंत्रण भेजा जाएगा। उनके अलावा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री मनोहर लाल, भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित खेल, फिल्म व राजनीति से जुड़ी हस्तियों को भी इस समारोह में बुलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि शादी बिना किसी दान-दहेज के संपन्न होगी।

 4 जून को हुआ था रिश्ता पक्का

उल्लेखनीय है कि दंगल गर्ल बबीता फौगाट व भारत केसरी पहलवान विवेक सुहाग का रिश्ता गत 4 जून को पक्का हुआ था। बबीता व विवेक एक-दूसरे को पिछले 4-5 वर्षो से जानते हैं और अच्छे दोस्त है। पहलवान विवेक सुहाग फिलहाल भारतीय रेलवे में कार्यरत है। 4 जून को बबीता ने ही विवेक सुहाग के साथ रिश्ता पक्का होने की जानकारी अपने फेसबुक व ट्विटर हैंडल पर शेयर की थी। दोनों के परिवार में भी खुशी का माहौल बना हुआ है।

हाल ही में बबीता फौगाट ने राजनीति की दुनिया में भी कदम रखा था। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी की तरफ से हरियाणा विधान सभा चुनाव में हिस्सा लिया था, लेकिन वो अपना दम यहां पर दिखाने में कामयाब नहीं रहीं और उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। चुनाव लड़ने के लिए बबीता ने हरियाणा पुलिस की नौकरी भी छोड़ दी थी। 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप