गजेंद्र नागर, इंदौर। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लगाए लॉकडाउन के कारण शहर में करीब तीन महीनों से खेल गतिविधियां प्रभावित हैं। मगर अब शहर में खेल गतिविधियां जल्द मैदानों में शुरू होने जा रही हैं। हालांकि इनडोर हॉल में होने वाले खेलों को अभी इंतजार करना पड़ सकता है। इस बात के संकेत जिला प्रशासन ने दिए हैं।

शहर के बीच स्थित जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में लंबे समय से खेल गतिविधियां बंद हैं। यहां टेबल टेनिस, बैडमिंटन सहित कई खेलों की गतिविधियां संचालित होती थीं। स्टेडियम के आस-पास रहवासी क्षेत्र नहीं है और कोरोना का खतरा भी कम है। इसके बावजूद यहां खिलाड़ियों को प्रवेश नहीं मिल रहा। अब प्रशासन यहां सर्वे कराने जा रहा है, जिसके बाद जल्द मैदान में खेल गतिविधियों की अनुमति मिल सकेगी। मगर स्टेडियम में विभिन्न हॉल में होने वाले खेल अभी बंद रहेंगे।

अन्य मैदानों की भी आस जगी :

नेहरू स्टेडियम में खेलों की राह खुलती है तो शहर के अन्य मैदानों की भी आस जगेगी। होलकर क्रिकेट स्टेडियम, अटल खेल परिसर, मल्हार आश्रम और चिमनबाग मैदान में भी गतिविधियों की अनुमति की राह खुल सकती है।

पहले भी प्रभावित होती रही है गतिविधि :

जवाहरलाल नेहर स्टेडियम में खेल गतिविधियों को बंद करना कोई नई बात नहीं है। अभी करीब डेढ़ साल से खेल गतिविधियां सुचारू रूप से संचालित नहीं हो पा रही है, क्योंकि स्टेडियम का अधिकांश हिस्सा चुनाव से संबंधित सामग्री रखी होने से बंद प़़डा हुआ है। पुराना टेबल टेनिस हॉल तो करीब पांच साल से बंद पड़ा है।

मध्य प्रदेश ओलंपिक संघ के उपाध्यक्ष ओम सोनी ने कहा, "पहले निर्वाचन प्रक्रिया और अब कोरोना संक्रमण के कारण खेल गतिविधियां बंद हैं। सुरक्षित शारीरिक दूरी और अन्य सुरक्षा नियमों का पालन करने वाले खेल संगठनों को अनुमति मिलना चाहिए। शहर की विभिन्न दुकानों और बाजारों को अनुमति मिली है तो खेलों को भी मिलना चाहिए। हम इस संदर्भ में जिला प्रशासन के समक्ष अपनी बात रखेंगे।" 

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस