बेलग्रेड, एजेंसी। ओलंपिक पदक विजेता पहलवान बजरंग पूनिया ने विश्व कुश्ती चैंपिनयिशप के पुरुष 65 किग्रा वर्ग में रविववार को पुएर्टो रिको के सेबास्टियन सी रिवेरा को 11-9 से हराकर कांस्य पदक अपने नाम किया। वह इस चैंपियनशिप में चार पदक जीतने वाले एकमात्र भारतीय पहलवान हैं। बजरंग इससे पहले, 2018 में रजत, जबकि 2013 और 2019 में कांस्य पदक अपने नाम कर चुके हैं। भारत का इस चैंपियनशिप में यह दूसरा पदक है। बजरंग से पहले महिला पहलवान विनेश फोगाट (53 किग्रा) ने भी कांस्य पदक जीता था।

सिर पर पट्टी बांधकर खेले बजरंग

इस साल बर्मिंघम कामनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक जीतने वाले बजरंग सिर में चोट के कारण पट्टी बांधकर खेलने उतरे। वह हालांकि, इस मैच में 0-6 से पीछे चल रहे थे, लेकिन भारतीय पहलवान ने फिर शानदार वापसी की और 11 अंक जीते, जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी इसके बाद तीन अंक ही हासिल कर पाए।

क्वार्टर फाइनल में बुरी तरह हुई थी हार

इससे पहले, बजरंग को क्वार्टर फाइनल में अमेरिका के जान माइकल डायकोमिहालिस से 0-10 से हार का सामना करना पड़ा था और वह फाइनल की दौड़ से बाहर हो गए थे। हालांकि, बाद में वह रेपचेज के जरिये कांस्य पदक मुकाबले में पहुंचे और उन्होंने जीत हासिल की। भारत ने इस चैंपियनिशप के लिए इस बार 30 सदस्यीय टीम भेजी थी, लेकिन यहां भारतीय पहलवानों का प्रदर्शन आशा के अनुरूप नहीं रहा।

यह भी पढ़ें- कामनवेल्थ 2022 में चमकने वाले कई भारतीय रेसलर्स ने विश्व चैंपियनशिप में किया निराश

Edited By: Mahen Khanna