चांगवोन, जेएनएन। भारतीय निशानेबाज अंकुर मित्तल ने शनिवार को आइएसएसएफ विश्व चैम्पियनशिप की डबल ट्रैप स्पर्धा में स्वर्ण पदक हासिल कर करियर की सबसे बड़ी जीत दर्ज की। टूर्नामेंट में भारतीय निशानेबाजों का शानदार प्रदर्शन जारी है। 

विश्व कप में कई पदक हासिल करने वाले 26 साल के इस निशानेबाज ने 150 में 140 सटीक निशाने लगाये जिसके बाद स्वर्ण पदक के लिए शूटऑफ में उनका सामना चीन के यियांग यांग और स्लोवाकिया के हुबर्ट आंद्रेजेज से हुआ। शूटऑफ में मित्तल ने चीनी निशानेबाज को 4-3 से हराकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। आंद्रेजेज को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।

अंकुर ने इसके साथ ही टीम स्पर्धा में मोहम्मद असाब और शार्दुल विहान के साथ मिलकर कांस्य पदक हासिल किया। तीनों ने मिलकर 409 अंक बनाए जो स्वर्ण पदक जीतने वाली इटली से दो अंक कम है। चीन ने 410 अंक के साथ रजत पदक हासिल किया।

दिन की अन्य स्पर्धाओं में दो भारतीय महिला निशानेबाज बहुत कम अंतर से अपनी अपनी स्पर्धाओं के फाइनल में पहुंचने से चूक गयीं।

दस मीटर एयर राइफल में रजत पदक के साथ 2020 ओलंपिक कोटा हासिल करने वाली अंजुम मुदगिल महिलाओं की 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन के क्वालीफाइंग दौर में 1170 अंक के साथ नौवें स्थान पर रही। शीर्ष आठ पर रहने वाली निशानेबाजों ने फाइनल के लिए क्वालीफाई किया।

अंजुम और आठवें स्थान पर रहने वाली स्विट्जरलैंड की नीना क्रिस्टेन का स्कोर बराबर था। लेकिन नीना ने इनर 10 के 66 निशाने लगाये थे जबकि अंजुम के 56 निशाने इनर 10 के थे।

महिलाओं की 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में मनु भाकर 584 अंक के साथ क्वालीफाइंग स्पर्धा में 10वें स्थान पर रही। रैपिड फायर के दूसरे क्वालीफिकेशन के बाद चार निशानेबाज इसी स्कोर के साथ बराबरी पर थी जिसमें मनु के अलावा सिंगापुर की शीउ होंग तेह, कतर की अल्दाना साद अलमुबारक, मिस्र की ओलंपिक और विश्व चैम्पियन (10 मीटर पिस्टल) अन्ना कोराक्की शामिल है।

शिउ और अलमुबारक ने क्रमश: 22 और 21 इनर 10 के स्कोर से फाइनल के लिए क्वालीफाई किया जबकि अन्ना और अंजुम के क्रमश: 19 और 16 अंक थे।

जूनियर मिश्रित युगल ट्रैप में मनीषा कीर और मानवादित्य सिंह राठौड़ ने क्वालीफिकेशन में 139 अंक के साथ दूसरे स्थान पर रहते हुए फाइनल में जगह पक्की की। फाइनल में वह 24 अंक के साथ चौथे स्थान पर रहे। इटली के ईरिका सेस्सा और लोरेंजो फरारी ने रिकार्ड 42 अंक के साथ स्वर्ण पदक जीता।

प्रतियोगिता के सातवें दिन के बाद भारत के खाते में सात स्वर्ण, सात रजत और छह कांस्य के साथ कुल 20 पदक है और तालिका में वह कोरिया और चीन के बाद तीसरे स्थान पर है। चीन दूसरे स्थान पर है।

भारत ने विश्व चैम्पियनशिप से ओलंपिक के लिए दो कोटा स्थान हासिल किए जो इस प्रतियोगिता में उसका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal