सिडनी, एपी। दुनियाभर में फैली कोरोना वायरस की महामारी की चपेट में ऑस्ट्रेलिया भी है, जहां 1000 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। बावजूद इसके ऑस्ट्रेलिया में कई बड़े टूर्नामेंट शुरू कर दिए गए हैं। हालांकि, ये सभी गेम खाली स्टेडियम में आयोजित हो रहे हैं, लेकिन इसमें खिलाड़ी, सपोर्ट स्टाफ, ब्रॉडकास्टर्स और बाकी सदस्यों को कोरोना वायरस से संक्रमित होने का खतरा है।  

शनिवार को ऑस्ट्रेलिया में तीन बड़ी फुटबॉल की शुरुआत हुई है, लेकिन कोरोना वायरस की वजह से मुकाबले खाली स्टेडियम में खेले जा रहे हैं। यहां नेशनल रग्बी लीग, फुटबॉल ए लीग और ऑस्ट्रेलियन रूल्स फुटबॉल एएफएल का आयोजन शुरू हो गया है। ऐसा भी नहीं है कि ऑस्ट्रेलिया में कोरोना वायरस के मामले सामने नहीं आए हैं। यहां 100 से ज्यादा लोगों को कोरोना वायरस टेस्ट में पॉजिटिव पाया गया है। 

सभी को दूर रहने की है सलाह

एकतरफ जहां दुनियाभर में स्पोर्ट इवेंट पब्लिक गैदरिंग और सोशल कॉन्टेक्ट की वजह से रद या फिर स्थगित किए जा चुके हैं, लेकिन यहां खेल शुरू कर दिए गए हैं। ऑस्ट्रेलिया में खेली जाने वाले AFL की बॉडकास्टिंग डील साल 2017 से 2022 तक के लिए  2.5 billion ऑस्ट्रेलियन डॉलर्स में हुई है। पहले 22 राउंड सीजन में कुल 9 मैच खेले जाने हैं। ऐसे में आयोजकों ने इस लीग को बंद दरवाजों के पीछे आयोजित कराने का फैसला लिया है।

अगर साधारण समय की बात करें तो इस लीग को देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंचते हैं, खासकर विक्टोरिया स्टेट में 80हजार लोग एक मैच को देखते हैं, लेकिन सिर्फ बॉडकास्टिंग राइट्स की वजह से इस लीग को आयोजित करना पड़ रहा है। जिस समय अन्य खेल रुके हुए हैं, उस समय पर खेलने का निर्णय खेल के वैश्विक स्तर पर दर्शकों का विस्तार करने का अवसर हो सकता है। फुटबॉल और रग्बी के मैच यहां भले ही आयोजित किए जा रहे हों, लेकिन क्रिकेट पर पहले ही ब्रेक लग गया है। 

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस