नई दिल्ली, जेएनएन। लक्ष्य ओलिंपिक पोडियम कार्यक्रम (टाप्स) में सोमवार को 20 नए खिलाड़ियों को जोड़ा गया, जिससे पेरिस ओलिंपिक और पैरालिंपिक 2024 के लिए खेल मंत्रालय से अनुदान पाने वाले कुल खिलाड़ियों की संख्या 148 पहुंच गई। खेल मंत्रालय के मिशन ओलिंपिक प्रकोष्ठ (एमओसी) की बैठक में टाप्स से लाभ पाने के लिए ओलिंपिक के सात और पैरालिंपिक के छह खेलों की पहचान की गई। आगामी महीनों में एमओसी की अगली बैठक में टाप्स सूची में और खिलाड़ियों को जोड़ा जाएगा।

जिन खेलों के खिलाड़ियों को एमओसी बैठक में मंजूरी मिली उनमें ओलिंपिक खेलों में साईकिलिंग, नौकायन, निशानेबाजी, तैराकी, टेबल टेनिस, भारोत्तोलन और कुश्ती शामिल हैं। तीरंदाजी, एथलेटिक्स, बैडमिंटन, मुक्केबाजी, घुड़सवारी, तलवारबाजी, गोल्फ, जिम्नास्टिक, जूडो, रोइंग और टेनिस पर फैसला इस महीने के आखिर में होने वाली अगली बैठक में लिया जाएगा। पैरा खेलों में तीरंदाजी, एथलेटिक्स, बैडमिंटन, निशानेबाजी, तैराकी और टेबल टेनिस शामिल हैं।

प्रीमियर हैंडबाल लीग की तीसरी फ्रेंचाइजी बना राजस्थान

प्रीमियर हैंडबाल लीग (पीएचएल) ने अपने फ्रेंचाइजी आधारित लीग के शुरुआती सत्र के लिए सोमवार को राजस्थान वूल्वराइन्स के रूप में अपनी तीसरी फ्रेंचाइजी टीम घोषित की। पीएचएल इससे पहले गर्वित गुजरात और गोल्डन ईगल्स उत्तर प्रदेश को अपनी फ्रेंचाइजी टीमों के रूप में घोषित कर चुका है। लीग में कुल छह टीमें भाग लेंगी।

एआइबीए बना आइबीए, संविधान में किए संशोधन

ओलिंपिक में मुक्केबाजी के भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ ने अपनी विशेष आभासी कांग्रेस में स्वतंत्र समूह के जरिये सुझाए गए कई महत्वपूर्ण संवैधानिक संशोधनों को मंजूरी देने के साथ ही आलोचनाओं के घेरे में रहे अपने रेफरी और जजों को फिर से प्रमाणित करने की प्रक्रिया शुरू करने की घोषणा की।मुक्केबाजी खेल पेरिस ओलिंपिक 2024 में बना रहेगा लेकिन इसे लास एंजिलिस खेल 2028 के प्रारंभिक खेलों की सूची में नहीं रखा गया है। इस खेल का भविष्य सुशासन पर निर्भर है जैसा कि अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति (आइओसी) चाहती है। अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ को पहले एआइबीए कहा जाता था लेकिन अब इसे छोटे रूप में आइबीए कहा जाएगा।

Edited By: Vikash Gaur