संवाद सूत्र, बीरमित्रपुर :आरसी चर्च बीरमित्रपुर में शनिवार को युवा उत्सव का आयोजन किया गया। इसमें बतौर वक्ता गाइबीरा कॉलेज के प्रमुख पाउलूस एक्का ने कहा कि ईसाई धर्म की दीक्षा लेने वाले युवाओं को सीढ़ी दर सीढ़ी चढ़कर जीवन में ऊंचाईयों को छूना है। उन्होंने शराब को सबसे बड़ी बाधा बताया तथा इसे त्यागने का आह्वान किया। उन्होंने सत्मार्ग पर चलने के लिए भी सुझाव दिया।

युवा उत्सव के संयोजक बाना भेंगरा कुजूर ने अतिथियों का परिचय कराने के साथ समारोह के आयोजन के उद्देश्य पर प्रकाश डाला। बतौर अतिथि फादर स्टीफन वार्ला, एके टेटे ने भी युवाओं का मार्ग दर्शन किया। कार्यक्रम में नुआगांव, गोगिया, कुआरमुंडा, सलंगाबहा, टांगरानी, बरलेप्टा, बीरमित्रुर, झुरमुर आदि चर्च से जुड़े युवा शामिल हुए। इस मौके पर गोगिया समेत अन्य पारिस से जुड़े कलाकारों के द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। इसके आयोजन में थोमस लकड़ा, लारेंस तिर्की, कपिलदेव लुंगा, थोमस तिर्की, पीटर डुंगडुंग, अभय मुंडू आदि लोगों ने अहम भूमिका निभायी। इस मौके पर सुबह सात से नौ बजे तक प्रार्थना चला इसके बाद धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप