जागरण संवाददाता, राउरकेला : कोइड़ा वन विभाग की टीम ने छापेमारी कर अवैध लकड़ी लदे एक ट्रक को जब्त करने के साथ जंगल में आग लगाने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया है। इस कार्रवाई के दौरान तस्करों के हमले में एक वनकर्मी को चोट लगी तथा आग बुझाने का यंत्र भी क्षतिग्रस्त हुआ है।

कालटा के पास पुंडेपोखरी आरक्षित जंगल में ट्रक में अवैध लकड़ी लदे होने की सूचना मिलने पर कोइड़ा वन मंडल अधिकारी वैष्णव चंद्र पात्र ने रात ही में टीम के साथ वहां धावा बोलकर जलावन लकड़ी समेत गाड़ी को जब्त कर लिया। इसी दौरान वनकर्मियों को पता चला कि पेड़ काटने के बाद कुछ लोग निशान मिटाने के लिए जंगल में आग लगा रहे हैं। इस पर वनकर्मियों ने पास के गांव कुचूतोड़ा के पौलूस हेम्ब्रम, हाबिल मुंडा, वर्षा मुंडा व मिथुन मुंडा को दबोच लिया। साथ एक टीम जंगल में लगी आग बुझाने के लिए गई। यहां वनकर्मियों पर कुछ लोगों ने छिपकर हमला कर दिया जिससे एक वनकर्मी जख्मी हो गया। आरोपितों ने अग्निशामक यंत्र को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। ग्रामीणों ने बताया कि जंगल में आग लगाने के बाद कुछ लोग विपरीत दिशा में तीर-धनुष एवं हथियार लेकर घात लगाये रहते हैं। वन्य जीव भाग कर आने पर उसका शिकार भी किया जा रहा है। 110 लीटर शराब के साथ तीन गिरफ्तार आबकारी विभाग की ओर से बणई क्षेत्र में छापेमारी कर 110 लीटर अवैध शराब जब्त करने के साथ इससे जुड़े तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। आरोपितों में बणई थाना अंतर्गत जकेइकेला गांव का मंजू पात्र, मंटू पात्र, बारसुआं गांव का पंजक पात्र शामिल है। इनके पास से ट्यूब में बंद 110 लीटर शराब तथा इसकी ढुलाई में प्रयुक्त दो स्कूटी भी जब्त की गई है। तीनों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस