संवाद सूत्र, झारसुगुड़ा : नगर के बड़माल थाना के पास शुक्रवार की सुबह ट्रक की ठोकर बाइक सवार दो भाई शांतनु भैंयसा (45) व जगन्नाथ भैंयसा (42) की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। यह खबर फैलते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण घटनास्थल पर जुट गए तथा मुआवजे की मांग करते हुए सड़क को जाम कर दिया। इससे यातायात पूरी तरह से ठप हो गया।

इसकी सूचना मिलने के बाद बड़माल थाना प्रभारी अमिताभ पंडा ने मौके पर पहुंचकर लोगों को समझाने का प्रयास किया लेकिन वे अपनी मांग पर अड़े रहे। मामला शांत न होते देखे थाना प्रभारी ने ट्रक जिस कंपनी (एमसीएसी प्लांट, माराकुटा) का माल जा रहा था, प्रबंधन से जुड़े लोगों को मौके पर बुलाकर लोगों से बात करायी। इस वार्ता में आंदोलनकारियों ने मृतकों के परिजन को मुआवजा के साथ एक व्यक्ति को नौकरी देने की मांग रखी। प्लांट के अधिकारी अनुपम मिश्र व देवेंद्र बाग ने उच्च अधिकारियों से बातचीत कर मृतकों का दाह-संस्कार करने के लिए 51 हजार रुपये, परिवार के एक व्यक्ति को एमएससी में स्थायी नौकरी देने समेत एक लाख रुपये मुआवजा बाद में देने का लिखित भरोसा दिया। इसके अलावा रेडक्रास की ओर से भी दस हजार रुपये की सहायता राशि दी गई। तब जाकर करीब तीन घंटे बाद आंदोलनकारी सड़क से हटे। इसके बाद यातायात बहाल हो सका। वार्ता में अतिरिक्त तहसीलदार ए बाग सहित मृतकों के परिजन, बासुदेव भोई व स्थानीय लोग शामिल थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप