संवाद सूत्र, बीरमित्रपुर : मोमो गेम्स चैलेंज टीन एजर्स के लिए खतरनाक होता जा रहा है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए होने के कारण सुंदरगढ़ एसपी सौम्या मिश्रा के निर्देश पर जिला पुलिस ने जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत मंगलवार को बीरमित्रपुर सरस्वती शिशु मंदिर में कार्यक्रम आयोजित हुआ जिसमें आधा दर्जन स्कूलों के 454 विद्यार्थी शामिल हुए।

इन बच्चों को प्राजेक्टर के जरिए बताया गया कि मोमो चैलेंज गेम बच्चों में तेजी से वायरल हो रहा है। यह गेम बच्चों, टीनएजर्स के लिए ज्यादा खतरनाक है। मोमो चैलेंज गेम फेसबुक से शुरु हुआ और व्हाट्स एप ¨लक के जरिए तेजी से वायरल हो रहा है। गेम को ऑपरेट करने वाले यूजर्स फेसबुक या व्हाट्सएप पर किसी अपरिचित नंबर से संपर्क करते हैं और गेम में ¨हसक टास्क को पूरा करने के लिए उकसाते हैं, जो सीधे मौत को गले लगाने के साथ ही खत्म होता है। अगर कोई टास्क को पूरा करने से मना कर देता है, तो उसे धमकी भरे और विचलित करने वाले फोटोग्राफ्स भेजे जाते हैं। यहां तक कि कई बार उसे सोशल मीडिया अकाउंट्स को हैक करने और झूठे आरोप लगाने के भी मामले आए हैं। ये एकाउंट जापान, मैक्सिको और कोलंबिया के अलावा लैटिन अमेरिका के कुछ छोटे द्वीपों से संचालित किए जा रहे हैं।

इस गेम से जुड़ने वाले बच्चों के प्रति अभिभावकों को भी सतर्क किया गया। कार्यक्रम में बीरमित्रपुर सरस्वती शिशु मंदिर, सरकारी बालक हाईस्कूल, सरकारी बालिका हाईस्कूल, अर¨वद पूर्णांग शिक्षा केंद्र आदि स्कूलों के 454 बच्चे शामिल हुए। थाना के एसआइ केसी सामल, शशि भूषण, बीसी सेनापति, जोन पटनायक, शरत ¨सह के साथ स्कूल के प्रधानाचार्य रंजीत कुमार दास ने इसमें सहयोग किया।

Posted By: Jagran