संवादसूत्र, बड़गांव : सुंदरगढ़ जिले के प्रमुख पर्यटन स्थल महावीर पहाड़ी पर झंडा पूजा व रात्रि जागरण के लिए गए सालेपाली गांव के कीर्तन दल के सदस्यों को दंतैल हाथी के आने से जान बचाकर भागना पड़ा। हाथी ने उनके मृदंग आदि वाद्ययंत्र एवं अन्य सामान कुचल कर नष्ट कर दिया। पहाड़ी क्षेत्र में 20 हाथी रह रहे हैं जिससे लोग आतंकित हैं।

परंपरा के अनुसार, शुक्रवार की शाम को सालेपाली गांव से 50 अधिक लोग रात्रि जागरण तथा झंडा पूजा के लिए महावीर पहाड़ी की चोटी पर स्थित गुफा में गए थे। पूजा के बाद पोड़गोहाल गुफा के समक्ष रात भर जागरण किया एवं सुबह अलग अलग टुकड़ी में बंट कर गांव की ओर लौट रहे थे। कीर्तन दल के मित्रभानु साहू, कैलाश साहू, कीर्तन साहू, रसानंद साहू, प्रताप साहू व मुनू साहू के साथ आठ दस लोग पहाड़ी से उतर रहे थे तभी उनके सामने एक दंतैल हाथी एवं एक बच्चा आ गया। हाथी को देखते ही लोग सामान छोड़ कर जान बचाकर इधर-उधर भागे। हाथी ने उनके मृदंग, ढोलक, हारमोनियम एवं अन्य वाद्ययंत्र व सामान तोड़ दिया। शोर सुनकर पहाड़ी पर मौजूद लोगों ने भी जोर की आवाज लगाई। इसके बाद हाथी वहां से चला गया। इलाके में हाथियों का झुंड होने से लोगों में आतंक है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस