जागरण संवाददाता, राउरकेला : सुंदरगढ़ जिले में जच्चा-बच्चा की चिकित्सा के लिए मातृ शिशु अस्पताल खोला गया है। यहां मुफ्त इलाज की सुविधा होने के बावजूद लोग नर्सिंग होम में जा रहे हैं जहां जच्चा-बच्चा के जीवन के साथ खिलवाड़ किए जाने का एक मामला सामने आया है। गुरुवार की दोपहर को मेन रोड में एक विधवा गोद में नवजात को लेकर पैदल जा रही थी। उसे देखकर जब लोग पूछताछ करने लगे तब मामला सामने आया। विधवा ने बताया कि शिशु की मां जयंती प्रधान को षाड़ंगी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है। वहां पोलिया एवं अन्य टीका नहीं होने के कारण उसे जिला मुख्य चिकित्सालय भेजा गया। उसके पास कोई वाहन या आने जाने की सुविधा नहीं होने के कारण वह पैदल ही जा रही है। मां नर्सिंग होम के बेड में होने के कारण वह उसके साथ नहीं आ सकी। ऐसे में नर्सिंग होम में टीका आदि की आवश्यक सुविधा नहीं होने के बावजूद मरीजों को भर्ती किया जाना लोगों के जेहन में कई सवाल खड़े कर रहा है। इस संबंध में पूछे जाने पर जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सरोज मिश्र ने ऐसी किसी प्रकार की जानकारी होने से इंकार किया। वहीं अतिरिक्त जिलापाल नृसिंह चरण स्वाई ने इस घटना की जांच करने के बाद कदम उठाने की बात कही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस