जगन्नाथ महतो, राउरकेला : ओडिशा के आदिवासी बहुल जिला सुंदरगढ़ से निकले हॉकी खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय से लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का परचम लहराया है। इसी जिले के हॉकी खिलाड़ी पद्मश्री दिलीप तिर्की के नाम 400 से भी ज्यादा विश्व स्तरीय हॉकी मैंच खेलने का विश्व कीर्तिमान है। इसके अलावा यहां के अन्य खिलाड़ियों ने भी अपनी प्रतिभा का जौहर दिखाया है। वहीं जकार्ता एशियन गेम्स में भारतीय महिला टीम को रजत पदक तथा पुरुष टीम को कांस्य पदक दिलाने में भी यहां के खिलाड़ियों का प्रशंसनीय यागेदान रहा। इन्हीं उपलब्धि्यों के चलते इस जिले को सुंदर हॉकी का गढ़ भी कहा जाता है।

जिले की इसी विशिष्टता को ध्यान में रखकर पानपोष बाईपास रोड पर हॉकी चौक बनाया गया है। जहां एक पत्थर पर जिले के सफल हॉकी खिलाड़ियों का नाम अंकित किया गया है। इसी विशिष्टता को व्यापक रूप देने के लिए स्थानीय विधायक दिलीप राय ने यहां हॉकी हाल ऑफ फेम बनाने की मांग राज्य सरकार से की थी। इसका निर्माण बिरसा मुंडा स्टेडियम में करने का आग्रह किया गया था। इसे लेकर विधानसभा भी विधायक सवाल उठाया था। जिसका नगर विकास मंत्री निरंजन पुजारी ने जवाब दिया था। सरकार के पूरी तरह से गंभीर होने की बात कही थी। हालांकि इस प्रोजेक्ट पर कितनी राशि खर्च होगी, इसका ब्योरा तो नहीं दिया। लेकिन इसका निर्माण वर्ष 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित कर दी गयी है। इसके लिए विस्तृत प्रोजेक्ट रिपोर्ट, डीपीआर बनाने का काम भी चलने की जानकारी निरंजन पुजारी ने दी है।

----------

दिखेगी सुंदरगढ़ की सुंदर हॉकी :

इस हॉकी हाल ऑफ फेम में ओडिशा में हॉकी का गौरवशाली इतिहास, ट्रॉफी फीचर वाल, हॉकी से संबंधित विभिन्न कहानी का रोचक वणर्न, ओडिशा व देश के प्रसिद्ध हॉकी खिलाड़ियों की प्रतिमा, हॉकी से संबंधित विभिन्न सामग्री की प्रदशर्नी, ओलंपिक तथा अन्य अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग लेने वाले खिलाड़ियों का विवरण, ग्रामीण हॉकी गैलरी, ओलंपिक कैप्टन गैलरी समेत अन्य व्यवस्था के माध्यम से सुंदरगढ़ की सुंदर हॉकी की गाथा का बखान होगा।

----------

अब तक हॉकी चौक से पहचान:

शहर में सुंदरगढ़ जिले के हॉकी के गौरव की पहचान के रूप में केवल पानपोष स्थित हॉकी चौक ही है। इस चौक में एक बड़े से पत्थर पर जिले के अब तक सफल हॉकी खिलाड़ियों का नाम है। इन नामों में सबसे पहला नाम भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान पद्मश्री दिलीप तिर्की का है। जिसके बाद अन्य नामों में पीटर तिर्की, प्रबोध तिर्की, लाजरुस बार्ला, विलियम खालको, ज्योति सुनीता कुलू, पाउलिना सुरीन, अंजना बार्ला, सुमित्रा तिर्की, अश्रिता टोप्पो, एगनेसिया लुगून, सुभद्रा प्रधान, टेरेसा कुजूर, ग्लोरिया डुंगडुंग, सविता एक्का, एनारित्ता केरकेट्टा, मुक्ता खालको, सरिता लकड़ा, इग्नेश तिर्की, विकास टोप्पो, नीलिमा कुजूर, बनीता टोप्पो, बाहमणि तिर्की का नाम शामिल है।

Posted By: Jagran