संवादसूत्र, राजगांपुर : नगरपालिका में डेंगू पर जागरूकता कार्यक्रम मजाक बन गया है। अधिकारियों की उदासीनता के कारण यह माइक से प्रचार व स्लोगन तक सिमट गया है। नगरपालिका की ओर से हर वार्ड में कीटनाशक व मच्छर मारने की दवा छिड़काव व फॉगिग, चिकित्सा व्यवस्था के वादे किए गए थे पर इस दिशा में काम नहीं हो रहा है।

नगरपालिका की ओर से डेंगू से बचाव के लिए घरों के आसपास पानी जमने से रोकने, मच्छरदानी का इस्तेमाल करने, लक्षण दिखने पर तुरंत चिकित्सक से परामर्श लेने व इलाज कराने के लिए माइक से प्रचार किया जा रहा है। वास्तव में सभी क्षेत्रों में में कीटनाशक व मच्छर मारने की दवा का छिड़काव नहीं किया जा रहा है। डेंगू से निपटने के लिए जो पहल होनी चाहिए वह नहीं हो रही है। नाम मात्र का काम कर इसके लिए सरकार से मिली राशि की हेराफेरी की जा रही है। केवल कागज पर डेंगू निराकरण का काम चल रहा है। राजगांगपुर एवं आसपास के क्षेत्र में लगातार बारिश से जहां तहां पानी जमा हुआ है। नालियों की नियमित सफाई नहीं हो रही है। जलजमाव से मच्छरों के पनपने के लिए अनुकूल वातावरण मिल रहा है। मलेरिया व डेंगू से बचाव के लिए जिलापाल का ध्यान आकृष्ट करने के साथ ही इसे गंभीरता से लेने का अनुरोध किया गया है। सड़क दुर्घटना में घायल युवक की मौत : बड़गांव थाना अंतर्गत पामरा मार्ग में चेमठापाड़ा के पास बाइक से गिरकर जख्मी युवक की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिस शव को जब्त करने के साथ ही दुर्घटनाजनित मामला दर्ज कर इसकी जांच कर रही है।

टिकलीपाड़ा निवासी 23 वर्षीय आकाश उर्फ पीतवास महानंदिया सप्ताह भर पहले बाइक से पामरा मार्ग में जा रहा था। संतुलन बिगड़ने पर वह गिर गया एवं गंभीर चोट लगी थी। उसे इलाज के लिए पहले सुंदरगढ़ जिला अस्पताल फिर वहां से बेहतर इलाज के लिए बुर्ला मेडिकल स्थानांतरित किया गया था, जहां उसकी मौत हो गई। बड़गांव थाना की पुलिस के द्वारा शव को जब्त कर पोस्टमार्टम कराने के बाद परिवार वालों को सौंपा गया।

Edited By: Jagran