संवाद सूत्र, संबलपुर : विदेशी शराब बिक्री को लेकर जो कयास लगाए जा रहे थे, वैसा कुछ देखने को नहीं मिला। लॉकडाउन के बाद रविवार को पहली बार संबलपुर में ऑनलाइन विदेशी शराब की बिक्री शुरु तो हुई, लेकिन दोपहर दो बजे से लेकर शाम के छह बजे तक स्थानीय पंथनिवास की ओर से केवल एक लाख 62 हजार रुपये की शराब ऑनलाइन से बिक्री और डिलीवरी की गयी, जबकि अन्य शराब दूकानों से कोई बिक्री नहीं हुई। दुकानदारों के इस असंतोष को देखते हुए पंथनिवास को ऑनलाइन शराब बेचने की अनुमति दी गयी।

सोमवार को शहर के कई शराब दूकान खोले गए और ऑनलाइन शराब खरीदने वालों को दुकानों से शराब बेचीं गयी। बताया गया है कि शराब की कीमतों में 50 फीसद की बढ़ोतरी समेत डिलीवरी चार्ज और ऑनलाइन पेमेंट को लेकर भी ग्राहकों में पहले जैसा जोश नहीं दिख रहा। शराब दुकानों के खुलने से भारी भीड़भाड़ होने की आशंका भी फुस्स हो गयी। दुकानों में गिने चुने ग्राहक ही नजर आये। बताया गया है कि नए नियम के तहत ऑनलाइन शराब बेचने में दुकानदारों को कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। शहर के शायद ही किसी दूकान में कंप्यूटर है, जिससे ऑनलाइन बुकिग और इनवॉइस की व्यवस्था की जा सकेगी। इसके अलावा, इस काम के लिए किसी जानकार को अलग से नौकरी पर रखना भी पड़ेगा। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले जब दिल्ली, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश समेत अन्य कई प्रदेशों में शराब की दुकानें खुली थीं तब लंबी लंबी कतार देखि गयी थी। ग्राहकों को घंटों कतार में खड़े रहने के बाद शराब मिलता था, लेकिन संबलपुर में ऐसा कुछ नहीं देखा गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस