संवाद सूत्र, संबलपुर : शहर के मंदिरों के आसपास कफ सीरप बेचने वाले दो युवकों को खेतराजपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर उनके पास से कफ सीरप की बोतल, नशे की गोली, प्लास्टिक और कागज के गिलास, मिलावटी कफ सीरप व नकद रुपया जब्त किया है। पूछताछ के बाद दोनों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। बताया जा रहा है कि खुद नशे की लत लगा चुके युवक इन दिनों दूसरे युवकों को भी नशे का लत लगाकर अपनी कमाई कर रहे हैं।

खेतराजपुर थानेदार ममता नायक के अनुसार, रविवार की देर शाम खेतराजपुर थाना अंतर्गत गुड़ेश्वर बाबा मंदिर के पीछे युवकों को नशीला कफ सीरप बेच रहे दलाईपाड़ा के शिव शंकर डाकुआ को पुलिस ने 6 बोतल कफ सीरप आदि के साथ गिरफ्तार किया। पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि शिव शंकर पहले भी कई बार कफ सीरप कारोबार में गिरफ्तार हो चुका है। जमानत पर रिहा होने के बाद वह फिर से नशा कारोबार शुरू कर देता है।

इसी तरह, सोमवार की शाम इसी थाना अंतर्गत मां समलेश्वरी मंदिर के पार्किंग के पीछे कफ सीरप बेचते अमरीपाड़ा के अरुण महापात्र को भी पुलिस ने चार बोतल कफ सीरप, नशे की 10 गोली, प्लास्टिक के गिलास और नकद 230 रुपये के साथ गिरफ्तार किया। पूछताछ के दौरान अरुण ने पुलिस को बताया कि युवकों को अच्छी सेहत और मानसिक तनाव से मुक्ति मिलने का झांसा देकर वह नशे की गोली मिला कफ सीरप बेचता था। पुलिस को पता चला है कि खुद नशे की लत का शिकार हो चुके कई युवक दूसरों को भी नशे की लत लगा रहे हैं। हालत यह है कि शहर भर में ऐसे युवक घूम घूमकर कफ सीरप बेच रहे हैं। खबर है कि इस नशा कारोबार में कमीशन का लालच देकर भिखारियों को भी कफ सीरप बेचने के काम में लगाया जा रहा है। ऐसे में साफ है कि इस कारोबार की जड़ पर चोट नहीं किया गया तो शहर में नशा कारोबार कुटीर उद्योग का रुप ले सकता है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस