संसू, संबलपुर : नवउद्घाटित संबलपुर-राउरकेला बीजू एक्सप्रेस वे पर टोल टैक्स वसूली के विरोध को लेकर गठित संबलपुर जिला हाइवे उपयोगकर्ता मंच ने शुक्रवार की शाम आयोजित बैठक में स्पष्ट कर दिया है कि टोल टैक्स उन्हीं से वसूल होना चाहिए जिनके हित के लिए सरकार ने यह एक्सप्रेस वे बनवाया है।

टोल टैक्स वसूली के खिलाफ दो अप्रैल के संबलपुर बंद की जानकारी देने के लिए मंच की ओर से शुक्रवार की शाम होटल शीला टावर्स में प्रेसवार्ता का आयोजन किया गया। भागवत प्रसाद नंद की अध्यक्षता में आयोजित इस प्रेसवार्ता में मंच के सलाहकार अधिवक्ता सत्यनारायण पंडा ने बताया कि बीजू एक्सप्रेस वे का निर्माण आमजनता की मांग पर नहीं बल्कि संबलपुर, झारसुगुड़ा और सुंदरगढ़ जिला के औद्योगिक संयंत्रों के हित के लिए किया गया है। इसके लिए कोई जनसुनवायी भी नहीं की गई और एक्सप्रेस वे को दो लेन से चार लेन कर दिया गया। अब जबरन टोल टैक्स वसूला जा रहा है। इससे पहले भी एक्सप्रेस हाइवे पर 20 वर्ष के बजाय अवैध रूप से 25 वर्ष तक का टैक्स वसूला गया था। जिसका हिसाब जनता को नहीं दिया गया है। पंडा ने आगे बताया कि वाहन खरीदते समय ग्राहकों से रोड टैक्स और पेट्रोल-डीजल खरीदते समय आठ फीसद सेस वसूला जाता है। इस टैक्स से सड़कों एवं हाइवे की देखरेख और मरम्मत की जानी चाहिए। लेकिन ऐसा करने के बजाय सरकार वाहन मालिकों से टोल टैक्स वसूल कर उनका शोषण कर रही है। पड़ोसी बरगढ़ समेत कटक और चंडीखोल में जनअसंतोष के बाद उन जिला में पंजीकृत वाहनों से टोल टैक्स वसूली बंद कर दिया गया, जबकि संबलपुर में टोल टैक्स वसूली को बंद करने में सरकार चुप है। उन्होंने बताया कि महानगर निगम के दायरे से 20 किमी दूर टोल प्लाजा होना चाहिए, जबकि संबलपुर का नुआंखुरिगां स्थित टोल प्लाजा 20 किमी के दायरे में अवैध रूप से बनाया गया है। इसके अलावा बीजू एक्सप्रेस वे पर सर्विस रोड भी नहीं बनाया गया है। टोल टैक्स वसूली के खिलाफ मंच की ओर से अदालत में याचिका दायर किए जाने के बारे में भी उन्होंने जानकारी दी और दो अप्रैल के संबलपुर बंद को सफल बनाने में सहयोग और समर्थन का निवेदन किया। इस प्रेसवार्ता में डॉ. दिलीप कुमार पंडा, संबलपुर ट्रक मालिक संघ के अध्यक्ष सुरेंद्र ¨सह और महासचिव रविंद्र कुंअर, चेंबर आफ कामर्स के जसवीर ¨सह हुरा, समीर रंजन बाबू, सुरेखा साहू, अरविंद नायक एवं अन्य उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस