संसू, संबलपुर : वट सावित्री पूजा के दिन कमिश्नर्स कॉलोनी के सरकारी मकान में हुए हादसे में गंभीर रूप से झुलसी सरोजिनी प्रधान को बुधवार को सदर अस्पताल से छुटटी मिल गई। इस हादसे में सरोजिनी के पति वृंदावन प्रधान की करंट लगने से मौत हो गई थी जबकि घर में काम करनेवाली यज्ञ साहू जख्मी हो गई थी। पुलिस के अनुसार यह हादसा विद्युत शार्ट सर्किट की वजह से हुआ था।

उत्तरांचल राजस्व आयुक्त कार्यालय में वरिष्ठ सहायक के रूप में कार्यरत वृंदावन कमिश्नर्स कॉलोनी के सरकारी मकान में सपरिवार रहते थे। पुराने मकान में विद्युत शार्टसर्किट की समस्या थी। सोमवार को हुई बारिश की वजह से वृंदावन के मकान के एक हिस्से में करंट प्रवाहित था। इससे अनजान घर में काम करनेवाली यज्ञ साहू मंगलवार की सुबह कपड़े धोने के बाद उसे सूखने के लिए तार पर डालने गई थी और करंट की चपेट में आ गई। यह देख वृंदावन की पत्नी सरोजिनी उसे बचाने पहुंची और खुद भी करंट की चपेट में आ गई। पत्नी सरोजिनी और नौकरानी यज्ञ को करंट की चपेट में देख वृंदावन उन्हें बचाने की कोशिश की और दोनों को बचा लिया। लेकिन खुद करंट की चपेट में आ गया। उनकी चीख पुकार सुन पहुंचे पड़ोसियों ने मेन लाइट को काटने के बाद गंभीर पति वृंदावन और पत्नी सरोजिनी को सदर अस्पताल भेजा, जहां डॉक्टर ने वृंदावन को मृत घोषित कर सरोजिनी को भर्ती कर लिया था। संबलपुर जिला के सासन थाना अंतर्गत तालाब गांव निवासी वृंदावन प्रधान के परिवार में पत्नी के अलावा एक पुत्र और एक पुत्री है। मंगलवार की रात वृंदावन का अंतिम संस्कार स्थानीय स्वर्गद्वार में संपन्न रहा।

By Jagran