संवाद सूत्र, संबलपुर : गुरुवार के दिन, ओड़िशा क्राइमब्रांच की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने मयूरभंज जिला के महुलदिया अंतर्गत सतकोसिया-नालदा मार्ग के निकट करंजिया वन संभाग अंतर्गत सतकोसिया वन्यप्राणी वन परिक्षेत्र के अधिकारियों की सहायता से छापेमारी कर जिदा पेंगोलिन के साथ एक आरोपित को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपित क्योंझर जिला के आनंदपुर थाना अंतर्गत पदमपुर गांव का निलमली देहुरी बताया गया है। तलाशी के दौरान उसके कब्जे से जिदा पेंगोलिन और अन्य आपत्तिजनक सामग्री जब्त की गई। आरोपित व्यक्ति इस जिदा पेंगोलिन के कब्जे के समर्थन में कोई वैध दस्तावेज पेश नहीं कर सका, इसके लिए उसे हिरासत में लिया गया है और आवश्यक कानूनी कार्रवाई के लिए करंजिया वन अधिकारियों को सौंप दिया गया है। जब्त जिदा पेंगोलिन को करंजिया वन्यजीव प्रभाग के डीएफओ को सौंप दिया गया है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में वन विभाग का अड़ंगा : बणई अनुमंडल के गुरुंडिया ब्लाक अंतर्गत सोल पंचायत के कंटामुंडा-पिपिलाकानी गांव में सड़क निर्माण कार्य रोकने पर ग्रामीणों में आक्रोश है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत यहां एनबीसीसी के द्वारा 12 किलोमीटर सड़क निर्माण का काम चल रहा है। वन विभाग की ओर से इसके समाधान का भरोसा दिया गया है। वन क्षेत्र में स्थित गांवों तक आने जाने के लिए सड़क नहीं है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में इसके लिए राशि स्वीकृत होने के बाद काम शुरू हुआ है। वन विभाग की ओर से विभागीय जमीन पर निर्माण कार्य रोके जाने से ग्रामीणों में भारी असंतोष था। इसे लेकर कंटामुंडा गांव में बैठक हुई। यहां रेंजर मनोज कुमार पात्र का घेराव किया गया। वन विभाग की ओर से सात दिनों के अंदर समस्या का समाधान कर काम शुरू कराने का भरोसा दिया गया इसके बाद लोग शांत हुए। बैठक में पतरास एक्का, सोल सरपंच दिव्या टेटे, नायब सरपंच प्रेमानंद साहू, दाउद कुजूर, फारेस्टर मनोरंजन महंती, भुवनेश्वर राय आदि लोग शामिल थे।

Edited By: Jagran