संवाद सूत्र, संबलपुर : बीते शनिवार की रात अईंठापाली थाना क्षेत्र में सामूहिक दुष्कर्म का शिकार होने के बाद अस्पताल में भर्ती महिला से सोमवार की शाम ओडिशा महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. मिनती बेहरा ने मुलाकात की। इस मौके पर डॉ. बेहरा ने इस मामले की जल्द से जल्द सुनवाई कर आरोपितों के लिए कठोर से कठोर दंड के लिए सरकार को पत्र लिखे जाने की बात कही। उन्होंने अफसोस जताया कि हैदराबाद की घटना के बाद भी लोग सुधरे नहीं हैं और ऐसी शर्मनाक घटनाएं हो रही हैं।

संबलपुर में घटित इस दुष्कर्म घटना के बाद महिला आयोग अध्यक्ष डॉ. बेहरा सोमवार की शाम अस्पताल पहुंचकर पीड़िता से मुलाकात कर उससे उसके स्वास्थ्य और घटना के संबंध में जानकारी ली। पीड़ित के सिर में गहरी चोट और खून जम जाने से उसकी हालत नाजुक बनी हुई है और वह ठीक से बोल भी नहीं पा रही है। बहुत कष्ट के बाद पीड़ित ने घटना के बारे बता सकी। महिला आयोग अध्यक्ष के साथ उनके कानूनी सलाहकार अरविद पटनायक, अतिरिक्त एसपी विजय बरवा, डीएसपी सुजाता पंडा, एसडीपीओ शिशुरंजन महापात्र, बुर्ला थानेदार विभूति भूषण भोई समेत अस्पताल के डॉक्टर्स उपस्थित रहे।

वहशियों को कठोर से कठोर दंड जरूरी : महिला आयोग अध्यक्ष डॉ. बेहरा ने पीड़िता से मिलने के बाद मीडिया को बताया कि सामूहिक दुष्कर्म के साथ महिला पर काफी अत्याचार भी किया गया था और उसे नोचा खसोटा भी गया। संभवत: उसे नशा भी दिया गया था और दुष्कर्म किया गया। महिला के सिर में गहरी चोट लगी है और उसकी हालत गंभीर है। डॉक्टरों से महिला के लिए उचित इलाज व्यवस्था का निर्देश दिया गया है। इसके अलावा सरकार के स्वास्थ्य विभाग को भी महिला के उचित इलाज के लिए पत्र लिखा जाएगा। डॉ. बेहरा ने कहा कि दुष्कर्म की इस घटना में कुछ और लोग भी शामिल हो सकते हैं। ऐसे वहशियों के खिलाफ कठोर से कठोर दंड जरूरी है।

दुष्कर्मियों के खिलाफ हो कड़ी कार्रवाई : सामूहिक दुष्कर्म का शिकार होकर गंभीर हालत में इलाजरत महिला से जिला कांग्रेस के नेताओं ने मुलाकात कर उसका हाल जानने के बाद सरकार से दोषियों के खिलाफ कठोर दंड की मांग की है। जिला अध्यक्ष अश्विनी गुरु के नेतृत्व में महिला कांग्रेस की सुतापा मित्र समेत रेणू करीम, सूरमा साहू, लक्ष्मी यादव, गीतांजलि दूबे, सीता महाकुड आदि ने अस्पताल पहुंचकर पीड़ित से मुलाकात कर उसके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। इस मौके पर जिलाध्यक्ष गुरु ने इस दुष्कर्म घटना को अमानुषिक बताते हुए पीड़ित को जल्द से जल्द न्याय दिए जाने और दुष्कर्मियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग सरकार से की है। उन्होंने अफसोस जताया कि देश और प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा खतरे में है। रोजाना ऐसी घटनाओं से महिलाओं में असुरक्षा की भावना बढ़ी है जो सबके लिए चिता का विषय है।

वारदात में शामिल दो नाबालिग भी पुलिस की गिरफ्त में : आदिवासी महिला से सामूहिक दुष्कर्म की घटना में संलिप्त दो नाबालिग को पुलिस ने हिरासत में लिया है। इस घटना में पुलिस चार आरोपितों को सोमवार को ही गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज चुकी है। पुलिस के अनुसार, गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ में पता चला था कि इस दुष्कर्म में उनके साथ दो नाबालिग भी साथ थे। उनके इस बयान के बाद पुलिस ने घटना की जांच तेज की और दोनों आरोपितों को हिरासत में लिया है। बताया कि मेडिकल जांच के बाद दोनों को जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड के सामने हाजिर किया जायेगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस