संवाद सूत्र, संबलपुर : करीब एक महीने पहले स्थानीय अईंठापाली बस टर्मिनस के सामने से अपहृत विवाहित महिला को पुलिस ने राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिला के झालर बावड़ी इलाके से बरामद कर उसे डेढ़ लाख रुपये में खरीदने वाले पप्पूलाल चौधरी समेत चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपितों में एक महिला संतोषिनी जेना भी है।

अईंठापाली थानेदार योगेश पंडा के अनुसार, विगत पांच जनवरी को बऊद जिला के पुराना कटक थाना अंतर्गत बारबती गाव के समीर कुंभार ने थाने में अपनी पत्‍‌नी के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बताया था कि 19 दिसंबर को सुबह उसकी पत्‍‌नी को अईंठापाली बस टर्मिनस के सामने से संतोषिनी जेना और उसके कुछ साथी एक कार से अपहरण कर ले गए थे। काफी खोजबीन करने बाद भी पत्नी का कुछ पता नहीं चल रहा है।

इसके बाद थानेदार पंडा के नेतृत्व में जाच टीम अपहृत महिला का पता लगाने में जुट गयी और आखिर उसके राजस्थान में होने का पता लगा लिया। पुलिस की एक टीम राजस्थान गई और वहा की पुलिस की मदद से ना केवल समीर की अपहृत पत्‍‌नी को बरामद कर लिया बल्कि इस मामले में संलिप्त चार आरोपितों को भी गिरफ्तार कर लिया।

संतोषिनी जेना समेत उसका पति रामदयाल दिगाल और दिलीप नायक उर्फ भालू समेत अन्य दो महिलाएं समीर की पत्‍‌नी का अपहरण कर राजस्थान ले गए थे। वहा चित्तौड़गढ़ जिला के रावतभाट्टा थाना अंतर्गत झालर बावड़ी इलाके में रहने वाले 35 वर्षीय पप्पूलाल चौधरी के हाथों उसे डेढ़ लाख रुपये में बेच दिया था। पप्पूलाल समीर की पत्‍‌नी को खरीदकर अपनी पत्‍‌नी बनाकर रखना चाहता था। पप्पूलाल मूलत: राजस्थान के कोटा जिला अंतर्गत आरकेपुरम थाना अंतर्गत गिरिधापुरा का है। इसी तरह संतोषिनी और उसका पति रामदयाल मूलत. ओडिशा के बउद जिला के बापूजी नगर के हैं और राज्य की युवतियों और महिलाओं की तस्करी करने में संलिप्त बताए गए हैं।

-----------

पुलिस के हत्थे चढ़े आरोपित

1. संतोषिनी जेना, बादा गाव, रामगंज मंडी, कोटा जिला, राजस्थान ।

2. रामदयाल दिगाल, बादा गाव, रामगंज मंडी, कोटा जिला, राजस्थान।

3. दिलीप नायक उर्फ भालू, घसिया पाड़ा, जुजुमुरा थाना, संबलपुर, ओडिशा।

4 . पप्पूलाल चौधरी, चारभुजा, रावतभाट्टा थाना, चितौडगढ़ जिला, राजस्थान।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस