संसू, ब्रजराजनगर : एमसीएल के लखनपुर क्षेत्र के महाप्रबंधक कार्यालय के समक्ष पिछले सोमवार से जारी खैरकुनी गांव के चार विस्थापितों का अनशन बुधवार शाम को विधायक व उपजिलाधीश के आश्वासन के बाद समाप्त हो गया। परिवार की जमीन के बदले नौकरी की मांग को लेकर अनशन पर बैठे तीन युवक व एक युवती के पास बुधवार शाम को स्थानीय विधायक किशोर महांति ने पहुंच कर उनकी समस्या पर चर्चा की। तदुपरांत एमसीएल के महाप्रबंधक एके सिंह को बुलवाया एवं समस्या के समाधान के प्रति चर्चा की एवं पूछा कि इन्हें नौकरी देने में क्या अड़चन है, इसके बाद उन्होंने विधायक को पूरे मामले से अवगत कराया।

तदुपरांत झारसुगुड़ा जिलाधीश एवं उत्तरांचल राजस्व आयुक्त से बात की एवं उपजिलाधीश शिव शंकर टोप्पो को घटनास्थल पर बुलाया। दोनों ने आपसी चर्चा के बाद अनशनकारियों को आश्वासन दिया कि आगामी 10 दिनों के भीतर आरडीसी की उपस्थिति में एक बैठक का आयोजन कर समस्या के समाधान का रास्ता खोजा जाएगा। इस आश्वासन के बाद अनशनकारी अपना अनशन समाप्त करने को राजी हो गए एवं विधायक तथा उपजिलाधीश ने फलों का रस पिलाकर उनका अनशन समाप्त कराया। बाद में उपजिलाधीश शिव शंकर टोप्पो ने बनहरपाली थाना प्रभारी प्रशांत मेहेर, एमसीएल के क्षेत्रीय कार्मिक प्रबंधक संजीव भारद्वाज तथा सारंडामाल सरपंच पार्वती बेहेरा के साथ खैरकुनी गांव जाकर अधिग्रहित की गई जमीन का प्रत्यक्ष जायजा लिया। इस अवसर पर अनशन तोड़ने वाले आदित्य सेनापति, आशीष सेनापति, दिनेश सेनापति तथा बोब्बी रानी सेनापति ने चेतावनी दी कि अगर समय सीमा के भीतर इन्हें नौकरी नही दी गई तो उन्हें पुन: अनशन पर बैठने को बाध्य होना पड़ेगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस