संवाद सूत्र, संबलपुर : ओडिशा में शिक्षानगरी के रूप में प्रसिद्ध उपनगर बुर्ला के निकट नशे की एक बड़ी खेप पकड़ी गई। इस मामले में पुलिस ने बुर्ला के दो नशा कारोबारियों को गिरफ्तार कर उनके पास से 500 बोतल कफ सिरप, नशे की 20 गोली, एक टीवीएस बाइक और एक मोबाइल फोन जब्त किया है। पूछताछ करने के बाद दोनों गिरफ्तार नशा कारोबारियों को रविवार को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

संबलपुर जिला पुलिस के सूत्र के अनुसार, गाधी जयंती के दिन बुर्ला थाना की पुलिस को कफ सिरप की बड़ी खेप की तस्करी के बारे में गुप्त सूचना मिली थी। इसी सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुए बुर्ला पुलिस की टीम मुंबई-कोलकाता राजमार्ग पर स्थित गोलगुंडा गाव निकटस्थ भाईजी ढाबा के पास से दोनों नशा कारोबारियों को हिरासत में लिया। यह दोनों टीवीएस बाइक से 500 बोतल कफ सिरप और नशे की गोली लेकर बुर्ला की ओर आने वाले थे।

पूछताछ के बाद पुलिस ने बुर्ला थाना अंतर्गत गोलगुंडा गाव के राम विहार निवासी 40 वर्षीय सुरेश जैकब और बुर्ला के वन आर कॉलोनी निवासी 30 वर्षीय राजेश पंचविहार के खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। राउरकेला में प्रतिबंधित मांस के साथ दो लोग गिरफ्तार : राउरकेला के तलसरा थाना अंतर्गत गइबीरा गांव में एक भोज में प्रतिबंधित मांस देने की सूचना मिलने पर बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने पुलिस को सूचित किया। पुलिस मौके पर पहुंचकर प्रतिबंधित मांस जब्त करने के साथ ही इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया।

गाइबीरा इंग्लिश स्कूल के पास रजत कुजूर के घर में भोज का आयोजन किया गया था। यहां प्रतिबंधित मांस देने की खबर मिलने पर सुंदरगढ़ बजरंगदल के अध्यक्ष सोनू नेगी ने तलसरा थाना में लिखित शिकायत की। इसके बाद पुलिस टीम के साथ बजरंगदल कार्यकर्ता वहां पहुंचे और मांस की कटाई कर रहे आनंद लकड़ा और अरविद लकड़ा को गिरफ्तार कर लिया। पशु चिकित्सा अधिकारी डा. एलएन राज कुजूर ने जब्त मांस की छानबीन की इसके बाद उसे दफना दिया गया।

Edited By: Jagran