संसू, संबलपुर : ठेलकोपाड़ा में तनाव का माहौल है। किसी तरह की गड़बड़ी को रोकने के लिए पुलिस को चौकस रखा गया है। सोमवार को इलाके में पहले सुजीत नाग और फिर शंकर मुखी की निर्मम हत्या के बाद से क्षेत्र में तनाव व्याप्त है। ऊपरी तौर पर तो मंगलवार को यहां माहौल शांत नजर आया है लेकिन पुलिस कोई रिस्क लेना नहीं चाहती और इसी वजह से ठेलकोपाड़ा की स्थिति पर पुलिस की कड़ी नजर है। जिला पुलिस अधीक्षक संजीव अरोरा के मुताबिक, सुजीत नाग हत्याकांड के मुख्य आरोपित पांडव मुखी और उसके भाई शंभू मुखी समेत सात को गिरफ्तार किया जा चुका है अन्य की तलाश जारी है। ठेलकोपाड़ा इलाके में गरमाए माहौल को देख सोमवार से ही आसपास के इलाको में पुलिसबल तैनात कर दिया गया है। सोमवार की रात टाउन थाना, ठेलकोपाड़ा के आसपास अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र रणा के नेतृत्व में सैकड़ों जवान गश्त लगाते रहे। गरमाए माहौल को देख मृत सुजीत और शंकर का शव भी एक साथ बुर्ला से वापस नहीं लाया गया। शाम के समय पहले सुजीत का शव पोस्टमार्टम के बाद बुर्ला से ठेलकोपाड़ा पहुंचा तथा भारी पुलिस बल की मौजूदगी में कमलीबाजार स्थित स्वर्गद्वार ले जाकर उसका अंतिम संस्कार किया गया। शंकर का शव आधी रात के बाद ठेलकोपाड़ा लाया गया और पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बीच उसका भी अंतिम संस्कार कर दिया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस