जागरण संवाददाता, संबलपुर : पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ कांग्रेस पार्टी के भारत बंद को संबलपुर में बड़ी सफलता मिली। वर्षो बाद पार्टी को बंद के दौरान मिली सफलता से कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं में उत्साह देखा जा रहा है। उधर, कांग्रेस के इस बंद में भाकपा के नेताओं ने भी समर्थन किया और बंद को सफल बनाया।

संबलपुर जिला कांग्रेस अध्यक्ष व पूर्व विधायक अश्विनी गुरु और अन्य नेताओं ने मिलकर भारत बंद को सफल बनाने की योजना के तहत सोमवार की प्रात: को ही संबलपुर स्टेशन पहुंच गए। बंद को देखते हुए पूर्व तट रेलवे ने संबलपुर-पुरी इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन पहले से ही रद कर दिया था। ऐसे में कांग्रेसियों ने संबलपुर-रायगढ़ा एक्सप्रेस को करीब एक घंटे तक रोके रखा। इसी तरह, टिटिलागढ़ स्टेशन में विशाखापट्टनम-दुर्ग और बलांगीर स्टेशन में टिटिलागढ़-हावड़ा समलेश्वरी एक्सप्रेस को रोका गया।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शहर में कई जगहों पर टायर जलाकर पथावरोध किया। इससे मुंबई-कोलकाता, संबलपुर-कटक, संबलपुर-राउरकेला, संबलपुर-सोनपुर के बीच सड़क यातायात बुरी तरह प्रभावित रहा। सड़कों पर केवल दो पहिया वाहनों की आवाजाही हो सकी। बंद से सड़कें पूरी तरह सूनी रहीं और स्कूल, बाजार बंद रहे। पार्टी जिला अध्यक्ष गुरु, वरिष्ठ नेता आसफ अली खान, वामपंथी नेता क्षीरोद ¨सहदेव, अशोक बिसि, युवा कांग्रेस, छात्र कांग्रेस, कांग्रेस महिला मोर्चा ने बाइक रैली निकालकर नगर परिक्रमा की और जिलाधीश कार्यालय के समक्ष केंद्र सरकार के प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की। डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतों से परेशान लोगों ने भी दुकान-बाजार बंद रखकर कांग्रेस का समर्थन किया।

Posted By: Jagran