जागरण संवाददाता, संबलपुर :

पिछले चार दशक से हिंदी शिक्षण व भाषा की सेवा में जुटे जाने माने हिंदी शिक्षाविद व संबलपुर विश्वविद्यालय के हिंदी विभागाध्यक्ष प्रोफेसर डॉ. मुरारीलाल शर्मा को, झारखंड के धनबाद में आयोजित एक समारोह में कोयला भारती सम्मान प्रदान कर सम्मानित किया गया है। इस समारोह का आयोजन धनबाद स्थित भारत को¨कग कोल लिमिटेड की ओर से सितंबर महीने में किया गया था।

ओडिशा जैसे गैर हिंदी भाषी प्रदेश में प्रोफेसर डॉ शर्मा पिछले चालीस वर्षों से हिंदी शिक्षण और हिंदी भाषा की अथक व निरंतर सेवा में जुटे हैं। उनके इस उल्लेखनीय सेवा के लिए धनबाद स्थित भारत को¨चग कोल लिमिटेड की ओर से सितंबर महीने में आयोजित समारोह में उन्हें सम्मानित किया गया। कंपनी के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक विनय कुमार पंडा ने प्रोफेसर डॉ. शर्मा को कोयला भारती सम्मान प्रदान किया।

प्रोफेसर डॉ. शर्मा पिछले चार दशक से पश्चिम ओडिशा के अलग- अलग महाविद्यालयों में हिंदी प्रोफेसर के रूप में कार्य करने समेत सैकड़ों विद्यार्थियों को हिंदी की शिक्षा प्रदान की है। संबलपुर विश्वविद्यालय में हिंदी विभाग शुरू कराने में भी उनका महत्वपूर्ण योगदान व संघर्ष रहा है। संबलपुर के विभिन्न सांस्कृतिक व क्रीड़ा गतिविधियों से भी वह जुड़े रहे हैं। ओडिया तथा संबलपुरी भाषा के नाटकों का हिंदी में अनुवाद व आकाशवाणी केंद्र द्वारा इन नाटकों का प्रसारण भी प्रोफेसर डॉ. शर्मा की एक बड़ी उपलब्धि है। उनसे शिक्षा प्राप्त कर चुके कई विद्यार्थी देश- विदेश के विभिन्न संस्थानों में कार्यरत है।