जागरण संवाददाता, राउरकेला : सुंदरगढ़ जिले के बणई वन मंडल अंतर्गत सगड़भंगा गांव में रविवार की रात को दंतैल हाथी ने ग्रामीण को कुचल कर मार डाला जबकि पत्नी किसी तरह जान बचाकर भाग निकली। इलाके में सप्ताह भर में दो लोगों की जान हाथी के हमले से गई है एवं आधा दर्जन से अधिक घरों को नुकसान पहुंचाया गया है। वन विभाग की ओर से हाथी को खदेड़ने के लिए किया गया प्रयास बेकार जा रहा है।

बणई वन मंडल अंतर्गत कोइड़ा ब्लॉक के सगड़भंगा गांव में रात के समय हाथी ने उत्पात मचाना शुरू किया। रात को मोहन पलई व पत्नी घर में सो रहे थे तभी हाथी वहां आकर घर को तोड़ डाला। मोहन व पत्नी निकल कर भाग रहे थे तभी हाथी ने मोहन को पकड़ लिया और कुचलने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जबकि पत्नी किसी तरह भागने में सफल रही। सुबह जानकारी मिलने पर वन विभाग व पुलिस टीम वहां पहुंचकर शव को जब्त करने के साथ ही मुआवजा देने का भरोसा दिया गया है। झुंड से अलग हुआ दंतैल हाथी के द्वारा कुलीपोष, जांगला, जकईकेला, बड़पोष, तलिता, बाघापाली, भंगाडीह समेत अन्य गांवों में नुकसान पहुंचाया जा रहा है। पांच दिन पहले हाथी ने खदेड़ने के लिए गए एक वन कर्मी को ही कुचल कर मार डाला। आतंकित ग्रामीण हाथी को खदेड़ने व सुरक्षा प्रदान करने की मांग की जा रही है। बाइक से गिरकर युवक गंभीर : कुआरमुंडा के चुटियाटोला के पास बाइक से गिरकर राउरकेला का युवक जख्मी हो गया। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस वाहन को जब्त कर घटना की जांच कर रही है। राउरकेला के सेक्टर-20 निवासी सतीश कुमार खाखा रविवार की रात करीब साढ़े आठ बजे कुआरमुंडा के चुटियाटोली से होकर जा रहा था तभी संतुलन बिगड़ने से वह गिर गया एवं गंभीर चोट लगी। सड़क पर पड़ा देख कर स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना कुआरमुंडा पुलिस को दी। पुलिस वहां पहुंचने के साथ ही एंबुलेंस की सहायता से उसे इलाज के लिए राउरकेला सरकारी अस्पताल भेजा गया।

Edited By: Jagran