मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

राउरकेला, जेएनएन। सुंदरगढ़  जिले के बीरमित्रपुर थाना अंतर्गत पतालकांड बस्ती में एकपिता के उत्पीडऩ से तंग आकर उसकी बेटियों ने खुदकुशी करने की नीयत से फिनायल पी लिया। हालत गंभीर होने पर उन्हें इलाज के लिए राउरकेला सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनकी हालत खतरे में बतायी जा रही है।

पुलिस की माने तो इन बच्चियों ने अपने पिता के उत्पीडऩ से तंग आकर खुदकुशी करने का प्रयास किया था। इनमें सबसे बड़ी बेटी स्थानीय कॉलेज में वाणिज्य सेकेंड ईयर तथा अन्य दो क्रमश: नौवीं एवं दसवीं कक्षा की छात्रा हैं। परिवार में चार बहन, एक भाई तथा पिता हैं। शराब पीकर हमेशा नशे में मारपीट करने के कारण इन बच्चों की मां सब को पिता के पास छोड़ कर खुद मायके चली गयी है। पिता श्रमिक का काम करता है।

हमेशा शराब पीकर घर आता और बेटियों को भद्दी गालियां देने के साथ मारपीट करता था। कई बार वह हथियार लेकर उन पर हमला करने का प्रयास भी किया। शनिवार को उसने बच्चियों के साथ ऐसा ही किया। उसने एक बेटी पर हमला करने का भी प्रयास किया पर वह बाल-बाल बच गयी। ऐसे में तंग आकर तीनों बहनों ने खुदकुशी के लिए फिनायल पी लिया। घर में तीनों बेटियों को बेचैन देख कर उनका पिता वहां से फरार हो गया। पुलिस उसकी तलाश में जुटी है।

इस घटना की जानकारी मिलने पर पीडि़त बच्चियों के चाचा एवं चाची ने पड़ोसियों की सहायता से उन्हें लेकर बीरमित्रपुर सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां हालत नाजुक होने के कारण उन्हें राउरकेला सरकारी अस्पताल स्थानांतरित कर दिया गया। जहां इलाज शुरू होने के बाद बच्चियों की हालत में सुधार है पर अब भी उनकी जान खतरे में है। गांव वालों ने इस घटना के लिए बच्चियों के पिता को दोषी बताते हुए कहा है कि शराब की लत ने उसे कहीं का नहीं रखा। यह घटना सभी के लिए एक बड़ा संदेश है।

फेसबुक पर तस्वीर वायरल करने पर मिली सजा, उसके बाद हुआ ये सनसनीखेज खुलासा

 

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप