संसू, बिसरा : बिसरा पंचायत अंतर्गत लगभग छह सौ आबादी वाले आइटीआइ मोहल्ला के लोग सड़क नहीं होने से कीचड़ मय रास्ते आने-जाने को विवश हैं। कई बार शिकायत के बाद बिसरा पंचायत फंड से इसी साल कुछ दूर तक सड़क का निर्माण कराया गया। पर पूरे रास्ते का कार्य नहीं हो पाया। कारण फंड की कमी बताया गया। इस पर पंचायत समिति सदस्य सोमा मुंडा ने समिति फंड से 3 लाख रुपये फौरन पास कराया तथा स्थानीय एक ठेकेदार ने कार्य करने की जिम्मेदारी ली। लेकिन वह भी सड़क किनारे सामग्री गिराकर चुपचाप घर में बैठ गया है जिससे लोगों की समस्या जस की तस बनी हुई है।

बता दे की आइटीआइ मोहल्ला बसे हुए 15 साल से अधिक समय हो चुका है। लेकिन इस मोहल्ले में आने के लिए पक्की सड़क इस साल बनी, वे भी कुछ दूर तक। लोगों की शिकायतों के बाद अधिकारियों ने जब ध्यान दिया तब ठेकेदार परेशान कर रहा है। सड़क का कार्यादेश 4 महीने पहले ही बिसरा पंचायत समिति सदस्य द्वारा ठेकेदार को दे दिया गया था। परंतु कार्य अब तक शुरू नहीं हुआ है। केवल सड़क निर्माण के सामग्री किनारे में गिराई गई है। जिसमें से बालू बरसात होने से बह कर बर्बाद हो रहा है। स्थानीय लोगो ने इसकी भी शिकायत की पर पहल नहीं हो रही है। हमने कार्य का आदेश महीनों पहले ही ठेकेदार को दिया था लेकिन कार्य शुरू तक नहीं किया गया है। फंड की पूरी राशि सुरक्षित है। और कार्य दूसरे जिम्मेदार ठेकेदार को जल्द ही दिया जाएगा।

-सोमा मुंडा, समिति सदस्य, बिसरा। एक तो मोहल्ले में सड़क नहीं बन रही थी और जब रोड बनाने का आदेश मिला तो ठेकेदार सही नहीं मिला। सड़क किनारे सामग्री गिराने से परेशानी बढ़ गई है।

-शाद अख्तर, आइटीआइ मोहल्ला। पांच महीने से ज्यादा हो गया है। सड़क के किनारे बालू, गिटटी आदि पड़ा हुआ है और बर्बाद ही रहा है। लेकिन रोड निर्माण का काम शुरू नहीं हो रहा है।

रिजवान अहमद, आइटीआइ मोहल्ला।

Edited By: Jagran