राउरकेला : राउरकेला इस्पात संयंत्र से पिग आयरन की ढुलाई को लेकर राउरकेला के वाहन मालिक व लिफ्टरों में तनातनी हो गई है। राउरकेला के चार वाहन मालिक यूनियनों से एकजुटता दिखाते हुए बाहर से आए वाहनों को रोक दिया। स्थानीय वाहनों से माल ढुलाई कराने को लेकर लिफ्टर व वाहन मालिकों के बीच सहमति नहीं बन पाई है।

वेदव्यास ट्रक आनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष विश्वरंजन बेउरा ने बताया कि राउरकेला इस्पात संयंत्र से पिग आयरन ढुलाई के लिए लिफ्टर बाहर से माल लेकर आने वाले वाहनों का इस्तेमाल कर रहे हैं। खाली लौटने वाले वाहन सस्ते में माल ढुलाई कर रहे हैं, जिससे स्थानीय वाहन मालिकों को लोडिग नहीं मिल रहा है। सप्ताह भर पहले इस समस्या को लेकर राउरकेला ट्रक आनर्स एसोसिएशन कार्यालय में स्थानीय वाहन मालिकों की बैठक हुई थी। इसमें राउरकेला ट्रक आनर्स एसोसिएशन, वेदव्यास ट्रक आनर्स एसोसिएशन, राउरकेला माइनिग एरिया ट्रक एंड टीपर आनर्स एसोसिएशन, राउरकेला ट्रेलर आनर्स एसोसिएशन की बैठक हुई थी। इसमें स्थानीय वाहनों को प्राथमिकता देने तथा एसोसिएशन के द्वारा ही भाड़ा तय करने का निर्णय लिया गया था। लिफ्टरों के द्वारा बाहर के वाहनों को लगाने से हो रही क्षति पर भी चर्चा हुई थी। लिफ्टरों को भी स्थानीय व बाहरी वाहनों को लगाने को लेकर बातचीत करने प्रस्ताव दिया गया था पर वे इसके लिए तैयार नहीं है। गुरुवार को उत्तरप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के करीब दस वाहन राउरकेला इस्पात संयंत्र में पिग आयरन ढुलाई के लिए आये थे जिन्हें रोक दिया गया। इसे लेकर संगठनों के बीच तनातनी हो गई थी। बातचीत कर आपसी सहमति नहीं बनने तक बाहरी वाहनों को रोकने की बात स्थानीय वाहन मालिकों की ओर की गई है।

Edited By: Jagran