जागरण संवाददाता, राउरकेला: राउरकेला के लाठीकटा थाना अंतर्गत लाठीकटा में रहने वाली दहेज उत्पीड़न की शिकार महिला ने सोमवार को एसपी कार्यालय पहुंचकर न्याय की गुहार लगाई। साथ ही न्याय नहीं मिलने पर एसपी कार्यालय के समक्ष आमरण अनशन की चेतावनी दी है। पीड़ित महिला ने सामाजिक कार्यकर्ता चांदमणि सांडिल के साथ एएसपी एससी पाथी से मुलाकात की। जिस पर उन्होंने बताया कि संबंधित थाने को मामला दर्ज करने को कह दिया गया है। इधर, पीड़िता का कहना है कि 48 घंटे के अंदर कोई प्रभावी पहल न होने पर वह 13 जून से एसपी कार्यालय के समक्ष आमरण अनशन शुरू करेगी।

पीड़िता श्रीयास्मिता राम का कहना था कि उसकी शादी दो साल पहले झारखंड के रांची के डोरंडा स्थित मजिस्ट्रेट कॉलोनी के निवासी गौतम कुमार से हुई थी। लेकिन शादी के दो साल बाद उसे दहेज की मांग को लेकर शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जाने लगा। जिससे तंग आकर वह मायके आ गई थी। गत मई महीने में महिला थाना में इसकी शिकायत दर्ज कराने पहुंची तो उसे पहले काउंसिलिग की सलाह दी गई। काउंसिलिग के बाद भी उसने केस करने का निर्णय लिया था। इस पीड़ित महिला का आरोप है कि महिला थाना में केस दर्ज कराने के लिए वह बार-बार वहां जाती है इसके बावजूद केस दर्ज नहीं किया जा रहा है। इसी को लेकर उसने सोमवार को एसपी का ध्यानाकर्षित कराने उनके कार्यालय पहुंची थी। जहां एएसपी से मिलकर न्याय की गुहार लगाई है। इसके बाद मीडिया से बातचीत में कहा कि 48 घंटों के अंदर कोई प्रभावी पहल न होने पर वह 13 जून से एसपी कार्यालय के समक्ष आमरण अनशन शुरू करेगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस