जागरण संवाददाता, राउरकेला : सुंदरगढ़ जिले के राउरकेला बसंती कालोनी के ट्यूशन सेंटर से सोमवार को पिकनिक मनाने के लिए चांदीपोष के वीरतोला घाट गए दो छात्र ब्राह्मणी नदी की तेज धार में बह गए। इन्हें बचाने के लिए नदी में कूदी शिक्षिका को बचा लिया गया है। इसकी सूचना मिलते ही लहुणीपाड़ा व चांदीपोष थाना की पुलिस व अग्निशमन कर्मी वहां पहुंचे और छात्रों की तलाश शुरु की। देर शाम तक उनका पता नहीं चल सका था। घटना को लेकर बसंती कालोनी क्षेत्र में मातम पसरा है।

राउरकेला बसंती कालोनी स्थित डीएवी स्कूल के नौवीं कक्षा के 10 विद्यार्थियों को लेकर दो शिक्षिकाएं पिकनिक के लिए चांदीपोष थाना क्षेत्र के वीरतोला घाट पर गई थी। घाट पर एक ओर भोजन बन रहा था। दूसरी ओर छात्र बॉल खेल रहे थे। खेलते समय बॉल नदी में चले जाने के बाद छात्र उसे लाने के लिए गए। किनारे ही करीब पांच फीट गहरा पानी होने तथा नीचे तेज धार होने का अंदाजा उन्हें नहीं था। जैसे ही वे पानी में उतरे वैसे ही डूबने लगे। उन्हें देखकर साथियों का शोर सुनकर शिक्षिका उन्हें बचाने के लिए नदी में कूदी। लेकिन वह भी छात्रों के साथ डूबते देख पास मौजूद कुछ लोगों के प्रयास से शिक्षिका को बेहोशी की हालत में बाहर निकाल लिया गया जबकि नौवीं कक्षा के दो छात्र पानी में बह गए। डूबे छात्रों में एक अप्सरा लांड्री के प्रमुख इस्लाम टेक का 16 वर्षीय पुत्र आयन टेक तथा दूसरा प्रशांत साहू बताया गया है। उल्लेखनीय है कि कोरोना काल में पिकनिक मनाने के दौरान बादलगिरी जलप्रपात गुरुंडिया में डूबने से कोयलनगर के दो छात्र अनिमेष सिंह एवं साईं स्वरुप महांती की 20 सितंबर को डूबने से मौत हुई थी। आठ दिन बाद इस तरह का यह दूसरा हादसा है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस