जागरण संवाददाता, राउरकेला : राउरकेला इस्पात संयंत्र (आरएसपी) के पावर एंड ब्लोइंग स्टेशन (पीबीएस) के नियंत्रण कक्ष में बुधवार को एमर्सन मेक का एक नया उन्नत ओवेशन डिस्ट्रीब्यूटेड कंट्रोल सिस्टम (डीसीएस) चालू किया गया। उन्नत प्रणाली का उद्घाटन मुख्य महाप्रबंधक प्रभारी (ए, आइ और आइटी) अतशी प्रमाणिक, मुख्य महाप्रबंधक (आइ एंड ए) एसपाल चौधरी, मुख्य महाप्रबंधक (पावर) बीएस कार्था, महा प्रबंधक प्रभारी (इंस्ट्र्रूमेंटेशन) एससी पात्र और महाप्रबंधक प्रभारी (ई एंड ए) के.श्रीनिवास की उपस्थिति में किया। इस अवसर पर इंस्ट्रूमेंटेशन और कैप्टिव पावर प्लांट-1 (सीपीपी-1) के कई अन्य वरिष्ठ अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे। विशेष रूप से, अधिक विश्वसनीय और तकनीकी रूप से उन्नत नई प्रणाली को एएमआर योजना के तहत 195 लाख रुपये की लागत से लागू किया गया है। नई प्रणाली संयंत्र के संचालन को अनुकूलित करने और संयंत्र को विश्वसनीय कई लाभों की परिकल्पना करने में मदद करेगी।

उल्लेखनीय है कि, पीबीएस कंट्रोल रूम में पहले ओवेशन 3.2 डीसीएस ने कई तकनीकी मुद्दों को विकसित किया था। मूल उपकरण निर्माता ने प्रणाली के बहुत पुराने और अप्रचलित होने के कारण किसी भी तकनीकी सहायता का विस्तार करने में असमर्थता व्यक्त की। ओवेशन सिस्टम का विंडोज एक्सपी से विंडोज 10 में अपग्रेड करना भी अनिवार्य था क्योंकि पुराने संस्करण के लिए सुरक्षा पैच के साथ-साथ एंटी वायरस उपलब्ध नहीं था।

इंस्ट्रूमेंटेशन, ई एंड ए और सीपीपी-1 की टीम द्वारा सावधानीपूर्वक योजना और प्रभावी कार्यान्वयन ने नई अत्यामधुनिक प्रणाली को सुचारू और सफल परिवर्तन की सुविधा प्रदान की। ऑपरेशन क्रू के नियोजित रखरखाव शटडाउन के दौरान बदलाव किया गया और इस उद्देश्य के लिए कोई अतिरिक्त शटडाउन नहीं लिया गया था। इससे नई प्रणाली के संचालन के दौरान या बाद में संयंत्र चलाने में कोई खराबी नहीं आई। इसके अलावा, नई प्रणाली ने बढ़ी हुई दक्षता के साथ नियंत्रण और उपकरण प्रणालियों की 100 प्रतिशत उपलब्धता सुनिश्चित की है।

Edited By: Jagran