जागरण संवाददाता, राउरकेला : राउरकेला इस्पात संयंत्र के संचार प्रमुख व लेखक रमेंद्र कुमार ने एथेंस में आयोजित 36वें युवाओं के किताब के अंतरराष्ट्रीय बोर्ड (आइबीबीवाइ) के दो सत्रों की अध्यक्षता की। रमेंद्र कुमार यह सम्मान पाने वाले एकमात्र भारतीय लेखक थे।

सम्मेलन में 70 से अधिक देशों के 450 प्रतिनिधियों को आकर्षित करने वाला यह सम्मेलन बाल साहित्य पर प्रकाश डालने वाला विश्व का सबसे बड़ा द्विवार्षिक कार्यक्रम था। 30 अगस्त को एक सत्र की अध्यक्षता करने के लिए रमेंद्र कुमार को आमंत्रित किया गया था। उनके विचार विमर्श के सकारात्मक प्रतिक्रिया और लोकप्रियता के परिणाम स्वरूप 31 अगस्त को एक और सत्र की अध्यक्षता करने का अनुरोध कया। इसके बाद रमेंद्र कुमार ने सम्मेलन में भारतीय बाल साहित्य की उत्साही दुनिया विषय पर प्रस्तुत किया। सत्र के दौरान रमेंद्र ने जगन्नाथ संस्कृति की व्यापक प्रासंगिकता और समकालीन पर भी प्रकाश डाला। रमेंद्र कुमार ने 33 किताबें लिखने वाले एक प्रशंसित बाल साहित्य के लेखक हैं। उनके लेखन का अनुवाद भारतीय और विदेशी भाषाओं में हुआ है। उन्होंने पिछले कुछ वर्षों में चिल्ड्रन बुक ट्रस्ट द्वारा बाल साहित्य के लेखकों के लिए आयोजित प्रतियोगिता में 31 पुरस्कार जीते हैं। यह किसी भी लेखक के लिए सर्वाधिक है। एक प्रेरणादायक वक्ता एवं कहानीकार रमेंद्र को प्रमुख समारोह जैसे जयपुर साहित्य सम्मेलन और बकारु इत्यादि के साथ-साथ साहित्य अकादमी, इग्नू और एनबीटी द्वारा आयोजित संगाष्ठियों में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया है।

Posted By: Jagran