जागरण संवाददाता, राउरकेला : सेल, राउरकेला इस्पात संयंत्र (आरएसपी) तरल चिकित्सा ग्रेड ऑक्सीजन (एलएमओ) की निरंतर आपूर्ति करके देश की स्वास्थ्य प्रणाली की मदद करने के लिए निरंतर प्रयास कर रहा है। जीवन रक्षक गैस की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए संयंत्र के ऑक्सीजन उत्पादन इकाइयों में कम करने वाले कार्मिक अथक प्रयास कर रहे हैं। कर्मीसमूह के अटूट प्रयासों के परिणामस्वरूप कंपनी ने 17 मई को 36 टैंकरों के माध्यम से 623.48 टन भेजकर एक ही महीने में तीसरी बार लगातार एलएमओ का एकल दिवस रिकॉर्ड प्रेषण दर्ज किया। इस खेप में चार टैंकर शामिल हैं जिन्हें ऑक्सीजन एक्सप्रेस द्वारा तमिलनाडु भेजी गई। इसके अतिरिक्त 2 आइएसओ टैंकरों को पहली बार आरएसपी में लोड किया गया।

इससे पहले आरएसपी ने सात और 14 मई को क्रमश: 474.16 टन और 499.16 टन एलएमओ भेजकर एक के बाद एक, एक दिवसीय प्रेषण रिकॉर्ड बनाया था। ऑक्सीजन प्लांट कर्मीसमूह को बधाई देते हुए कंपनी के सीईओ दीपक चट्टराज ने कहा है, आरएसपी को मौजूदा चुनौतीपूर्ण समय में देश की सेवा करने पर गर्व है।

उल्लेखनीय है कि, केंद्रीय पीएनजी और इस्पात मंत्री श्री धर्मेन्द्र प्रधान, के निर्देश और मार्गदर्शन में, आरएसपी कर्मीसमूह देश भर के गंतव्यों में तरल चिकित्सा ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए लगन से कार्य कर रहा है। 1 से 17 मई, 2021 के बीच इस्पात संयंत्र ने औसतन 365 टन प्रतिदिन के हिसाब से अब तक 6213.21 एलएमओ की आपूर्ति की है। एक अप्रैल, 2021 से लेकर अब तक आरएसपी के ऑक्सीजन संयंत्रों द्वारा देश भर के विभिन्न राज्यों में सड़क परिवहन के साथ-साथ भारतीय रेल द्वारा संचालित ऑक्सीजन एक्सप्रेस के माध्यम से टैंकरों द्वारा 9060 टन से अधिक तरल चिकित्सा ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई है।

Edited By: Jagran