मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

राउरकेला, जेएनएन। राउरकेला के नए एसपी के रूप में 2009 ओडिशा बैच के भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी के शिवा सुब्रमणि को नियुक्त किया गया है। इससे पहले वे बलांगीर के एसपी थे। तमिलनाडु के किसान परिवार में जन्मे के शिवा सुब्रमणि की जीवन कहानी किसी दक्षिण भारतीय फिल्म की कहानी से कम नहीं है। सुब्रमणि का यह सफर युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत है।

आइपीएस के शिवा सुब्रमणि का जन्म तमिलनाडु के विलुपुरम गांव में एक किसान परिवार में हुआ है। उनकी आरंभिक शिक्षा तमिल माध्यम के स्कूल में ही हुई। मैट्रिक की परीक्षा पास करने के बाद उन्होंने फिटर ट्रेड में आइटीआइ की। पिता की सहायता के लिए उन्होंने अशोक लीलैंड में टेक्नीशियन तथा मैरीन सर्विस में भी काम किया। एसएसएन प्राइवेट कॉलेज में बस चालक, सुपरवाइजर एवं मैकेनिक के रूप में काम करते हुए पुस्तकालय से पाठ्य सामग्री लेकर आगे की पढ़ाई जारी रखी।

ओडिशा मे आइपीएस स्तर पर फेरबदल, कई पुलिस अधीक्षक भी बदले गए

पत्राचार से इतिहास में स्नातक की पढ़ाई पूरी की। इस बीच रेलवे भर्ती बोर्ड की परीक्षा में उत्तीर्ण होकर उन्होंने टेक्नीशियन की नौकरी की। बाद में तमिलनाडु पब्लिक सर्विस कमिशन की परीक्षा पास करने के बाद राजस्व सहायक के रूप में काम करते हुए संयुक्त लोक सेवा आयोग की परीक्षा की तैयारी की। छह बार संयुक्त लोक सेवा आयोग की परीक्षा दी एवं अंतत: ओडिशा कैडर के आइपीएस के रूप में 2009 में सफलता प्राप्त की। इससे पहले सुब्रमणि बलांगीर में एसपी के पद पर तैनात थे। 15 अगस्त 2019 को मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने उन्हें पुलिस पदक से सम्मानित किया है। युवाओं को संघर्ष की प्रेरणा देने वाले आइपीएस अधिकारी को अब राउरकेला पुलिस जिले के कप्तान की जिम्मेदारी मिली है।

अोडिशा की अन्य खबरें पढऩे के लिए यहां क्लिक करें 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप