राउरकेला, जागरण संवाददाता। त्यौहारी सीजन में गांव जाने वाले लोगों की समस्या को देखते हुए लॉक डाउन के बाद दक्षिण- पूर्व रेलवे की ओर से कुछ सवारी ट्रेन शुरु की गई है। हालांकि अभी सभी टिकट रिजर्वेशन ही मिल रहे है। जिसके कारण सफर करने के लिए लोगों द्वारा आगे से ही टिकटों का रिजर्वेशन किया जा रहा है। लेकिन 28 नवंबर के बाद के तारीखों के रिजर्वेशन टिकट नहीं दिए जा रहे है। जिसके कारण दिसंबर माह में बाहरी क्षेत्रों से यात्रा कर लौटने वाले यात्रियों के समक्ष समस्या पैदा हो गई है।

जिसके कारण फिर से सवारी ट्रेनों की सेवा बंद होने की आशंका से लोगों के माथे पर शिकन देखा जा रहा है। साथ ही रेलवे के इस तरह के रवैये से लोगों में काफी नाराजगी और मायूसी छा गई है। स्टेशन में टिकट कटाने आने वाले लोगों के अनुसार वे लोग छठ मनाने के लिए हर साल बिहार और यूपी अपने गांव जाते। इसके अलावा अन्य यात्रियों को दूसरे कामों से लिए दूसरे शहरों जाकर 28 नवंबर के बाद लौटना है, लेकिन उन्हें 28 नवंबर के बाद का टिकट नहीं मिलने के कारण वे अपनी यात्रा को रद्द करने की योजना बना रहे है।

शहरवासियों में चर्चा है कि दिसंबर माह में इस साल ठंड अधिक पड़ेगी। जिससे कोरोना संक्रमण एक बार फिर से बढ़ने की संभावना है। शायद इसे देखते हुए रेल विभाग नवंबर माह के बाद का रिजर्वेशन टिकट नही दे रहा है। उधर विभाग को दिसंबर माह के रिजर्वेशन टिकट देने का नया आदेश नहीं मिला है। जबकि रेल विभाग ने आगामी 30 नवंबर तक कुछ सवारी ट्रेनें शुरु दी थी। लेकिन 30 नवंबर के बाद का नया आदेश रेलवे बोर्ड की ओर नही आने तक असमंजस बना रहेगा। लेकिन लोगों को इसकी जानकारी नही होने के कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

दपूरे चक्रधरपुर सीनियर डीसीएम मनीष कुमार पाठक-

दक्षिण- पूर्व रेलवे राउरकेला होकर आठ सवारी ट्रेनें चला रही है। और ट्रेनें चलने की उम्मीद है। 30 नवंबर के बाद के सवारी ट्रेनें को लेकर नया आदेश नहीं आया है। जिसके कारण 30 नवंबर के बाद के रिजर्वेशन टिकट कंप्यूटर में फीड नहीं किया गया है। कोरोना संक्रमण की संख्या में कोई खास इजाफा नही हुआ तो विभाग की ओर से ट्रेन सेवा पहले की तरह जारी रहेगी। 30 नवंबर के बाद शुरू होने जानकारी लोगों को मीडिया के माध्यम से दिया जायेगा। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप