जागरण संवाददाता, राउरकेला: बालीवुड के पहले सुपर स्टार राजेश खन्ना पर फिल्माएं गए नगमों की बारिश से शहरवासी पूरी शाम भींगते रहे। उनकी पूण्यतिथि पर सिविक सेंटर में राजेश खन्ना फैन क्लब व राउरकेला चैंबर ऑफ कामर्स द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित इस शाम में झारखंड, ओडिशा, बंगाल से आये कलाकारों ने उनकी फिल्मों के बेहतरीन नगमों को प्रस्तुत किया। साथ ही हर नगो के बाद उनसे जुड़ी रोचक जानकारी को डॉक्यूमेंटरी की तरह प्रोजेक्टर से एंकर के जरिए दर्शकों से साझा की गई। इस एकदम नए कांसेप्ट से कराए गए कार्यक्रम में शिरकत करने पश्चिमांचल की डीआइजी कविता जालान, सीआइएसएफ के डीआइजी प्रतीक महंती, राउरकेला इस्पात संयंत्र के महाप्रबंधक(टाउ र्सिवसेज) एनके सामंतराय ने पूरे कार्यक्रम का लुत्फ उठाया।

---------

..कहीं दूर जब दिन ढल जाए: कलाकारों ने जैसे ही फिल्म आनंद का मशहूर गीत कहीं दूर जब दिन ढल जाए, शाम की दुल्हन बदन चुराए गाया। पूरे सिविक सेंटर में पिन ड्राप साइलंस हो गया। श्रोता इस नगम को पूरी तन्मयता के साथ सुनते रहे। इस गाने के पहले फिल्म आनंद के उस सीन को भी दिखाया गया जिसमें कहा गया कि आनंद मरा नहीं, आनंद मरते नहीं। इसके अलावा मेरे सपनों की रानी कब आएगी तू, ये शाम मस्तानी मदहोश किए जाए मुझे डोर कोई खींचे तेरी ओर लिए जाए, ¨जदगी के सफर में गुजर जाते हैं जो मुकाम वो फिर नहीं आते, गाता रहे मेरा दिल तू ही मेरी मंजिल, प्यार दीवाना होता है मस्ताना होता है, ये जो मोहब्बत है ये उनका है काम मेहबूब का जो बस लेते हुए नाम। जैसी गीतों पर पूरी शाम श्रोता मगन रहे।

---------

पूरे सिविक सेंटर को राजेश खन्ना की तस्वीरों से सजाया: मौके पर पूरे सिविक सेंटर को राजेश खन्ना की तस्वीरों से सजा दिया गया था। हाल के अंदर प्रवेश करने से पूर्व उनकी तसवीर पर लोगों ने श्रद्धा सुमन अíपत किए। उनके बड़े कटआउट लगाकर माहौल बनाया गया था। प्रदीप गुरुवारा ने कलाकारों का समनव्य किया। आयोजन समिति के पदाधिकारी चैंबर के पूर्व अध्यक्ष सुनील कयाल, पूर्व उपाध्यक्ष मलय मंडल, चैंबर के पूर्व पदाधिकारी विशु डे, पूर्व अध्यक्ष राजगांगपुर चैप्टर कमल अग्रवाल, चैंबर के मौजूदा उपाध्यक्ष प्रवीण गर्ग, आइजीएच के चिकित्सक व राउरकेला क्लब के सचिव डा एसके तिवारी, सीएस सत्पथी मौजूद थे।

Posted By: Jagran