जासं, राउरकेला : जागरूकता और वित्तीय बाधाओं की कमी के कारण शल्य चिकित्सा की आवश्यकता वाले गरीब लोगों से संबंधित विभिन्न स्वास्थ्य समस्याएं उपेक्षित या अप्राप्त हो जाती हैं। इनके समाधान के लिए राउरकेला इस्पात संयंत्र (आरएसपी) अपने सीएसआर पहल चरक पर काम कर रहा है। इसके तहत पूरनापानी हाथीबड़ी के 42 वर्षीय विल्सन बागे, 60 वर्षीय निस्तार बागे और 30 वर्षीय कुणाल जोजोवार को इस्पात जनरल अस्पताल में भर्ती कराया गया। विगत 27 मार्च को बिसरा ब्लॉक के मोनको ग्राम पंचायत कार्यालय में सीएसआर विभाग द्वारा आयोजित चिकित्सा शिविर में इन्हें हाइड्रोसिल समस्या का पता चला था।

उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. आरके बेहरा, डा. एमके पाणिग्रही, उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. मनोज कुमार प्रधान और परामर्शदाता शल्य-चिकित्सा डा. ज्योति रंजन साहू ने विशेषज्ञ टीम के साथ शल्य-क्रिया की। समय पर पता लगने, निदान और उपचार होने से भविष्य की चिकित्सा जटिलताओं से छुटकारा मिला जिससे अब रोगी सामान्य जीवन जीने में सक्षम होने की बात कही गई है। राज्य में फिर खोले जाएंगे कोविड सेंटर : कोरोना वायरस की दूसरी लहर लौटने के बाद ओडिशा सरकार ने पुन: जिला स्तर पर कोविड-19 सेंटर खोलने के लिए निर्देश जारी किया है। इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त सचिव प्रदीप कुमार महापात्र ने सभी जिलाधीश, नगर निगम के कमिश्नर तथा जिला स्वास्थ्य अधिकारी को पत्र लिखकर अवगत करा दिया है। स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि दिन प्रतिदिन राज्य में कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है, ऐसे में जिला स्तर पर कोविड-19 सेंटर तैयार करना होगा। कोविड सेंटर तैयार करते समय कुछ दिशाओं पर विशेष ध्यान देना होगा। जिन लोगों को सामान्य या फिर कम लक्षण होंगे उन्हें क्वारंटाइन में रखने की सलाह दी गई है। यदि किसी व्यक्ति के पास क्वारंटान में रहने की व्यवस्था नहीं होगी तो उसे कोविड सेंटर में रखा जा सकता है। इससे पहले जिला स्तर पर जहां कोविड सेंटर खोले गए थे वहां कोविड सेंटर खोले जा सकते हैं। कोरोना मरीजों को देखते हुए जरूरी बेड संख्या एवं अन्य जरूरी सामग्री मौजूद रखने के लिए भी निर्देश दिए गए हैं। कोरोना केंद्र में मानव संसाधन उपयोग करने से पहले संबंधित व्यक्ति विशेष टीका लिए हैं या नहीं, इसकी जांच करने के साथ वह तुरंत कार्य में शामिल हो सकते हैं या नहीं, इसे जानना होगा। कोविड केंद्र के लिए जितने धन की आवश्यकता होगी वह मुख्यमंत्री राहत कोष, सीएसआर फंड या फिर किसी दानदाता के जरिए दिए जाने की जानकारी सचिव महापात्र ने दी है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021