जागरण संवाददाता, राउरकेला : कैलास सत्यार्थी चिल्ड्रेन्स फाउंडेशन, पीपुल्स कल्चरल सेंटर पीकॉक, एवनेर चाइल्ड केयर फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में मंगलवार को उदितनगर आइटीडीए हॉल में जन संवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें राउरकेला के विधायक शारदा नायक, बीरमित्रपुर के विधायक शंकर ओराम, उपजिलापाल विश्वजीत महापात्र के साथ विभिन्न सेवाभावी व शैक्षिक संगठनों के सदस्यों ने सुंदरगढ़ जिले को शिशु चालान मुक्त बनाने का संकल्प लिया।

जन संवाद में बताया गया कि गरीबी व अशिक्षा का लाभ उठाकर लोग बच्चों को पैसे देने का प्रलोभन देकर बाहर ले जाते हैं। पहले दो चार महीने तक पैसा भेजा जाता है फिर परिवार वालों से संपर्क तोड़ लिया जाता है। जब बच्चों का कोई पता नहीं चलता है तब लोग पुलिस या सेवाभावी संगठनों के पास आते हैं। ऐसे में बच्चों की तलाश करना मुश्किल काम हो जाता है। आदिवासी बहुल सुंदरगढ़ जिले में ऐसी घटनाएं अधिक हो रही हैं। लापता होने के बाद बच्चों को शारीरिक व मानसिक यातना शुरू होती है। बच्चे बाहर न जायें इसके लिए अभिभावकों को जागरूक करने की जरूरत है। इसके जिले के एनजीओ, चाइल्ड प्रोटेक्शन कमेटी तथा सेवाभावी लोगों जोड़कर एक तदर्थ कमेटी का गठन किया गया जिसमें विधायक शारदा नायक व शंकर ओराम को भी शामिल किया गया है। हर छह महीने में तदर्थ कमेटी की बैठक होगी। बैठक में जिला शिशु सुरक्षा अधिकारी श्रीमंत जेना, शिशु कल्याण कमेटी की सदस्य हसीना बेगम, सीडीपीओ गीतांजलि नायक, पीकॉक के प्रदीप कुमार बेहरा, एवनेर के ईडी बालमुकुंद शुक्ला मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस