जागरण संवाददाता, राउरकेला : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राउरकेला के लोगों से किए वादों के पूरा नहीं होने पर सेक्टर-2 खरियाबहाल बस्ती निवासी मुक्तिकांत बिश्वाल ने सोमवार से दिल्ली के लिए पैदल यात्रा शुरू की। विभिन्न संगठनों से जुड़े लोगों ने सेक्टर-2 पूजा मैदान से उन्हें रवाना किया। जगह जगह स्वागत किया गया।

पहली अप्रैल 2015 को प्रधानमंत्री ने राउरकेला में द्वितीय ब्राह्माणी पुल एवं आइजीएच को सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल बनाने की घोषणा भरी सभा में की थी। चार साल बीत जाने के बावजूद अब तक इस दिशा में ठोस पहल नहीं हुई है। उन्हें अपने वादे याद कराने पेशे से मूर्तिकार मुक्तिकांत बिश्वाल ने 1538 किलोमीटर की पैदल दिल्ली दरबार तक यात्रा करने का निर्णय लिया। वह ओडिशा, झारखंड, बिहार, उत्तरप्रदेश, हरियाणा होकर अंत में दिल्ली स्थित प्रधानमंत्री कार्यालय पहुंचेंगे। रोजाना करीब 28 किलोमीटर यात्रा कर 60 दिन में अपनी यात्रा पूरी करने का लक्ष्य उन्होंने रखा है। इसमें 30 हजार रुपये खर्च होंगे एवं पूरा खर्च खुद वहन करेंगे। सोमवार को उन्होंने सेक्टर-2 पूजा मैदान से अपनी यात्रा शुरू की। सेक्टर-2 चौक में युवा जागृति मंच के अध्यक्ष गोपाल जेना, डिवाइन लाइफ स्कूल के प्रधानाध्यापक रामाकांत मल्लिक, कांग्रेस के पीसीसी राजनीतिक सचिव रवि राय, बासु बनर्जी, साबिर हुसैन, प्रदीप बेहरा के अलावा साईं आश्रित क्लब, जगन्नाथ सेना समेत अन्य संगठनों ने उनका स्वागत किया। नयाबाजार चौक में सहायता की ओर से स्वागत किया गया। उदितनगर में मो. खालिद, ¨बदर ¨सह, शंकर आबूनी ने उनका स्वागत कर प्रोत्साहित किया। इसी तरह राउरकेला कोर्ट के पास राउरकेला वकील संघ के अध्यक्ष सत्य शर्मा, पूर्व अध्यक्ष रमेश बल समेत अन्य अधिवक्ताओं ने उनकी हौसला अफजाई की। पानपोष चौक, हनुमान वाटिका समेत अन्य स्थानों पर भी विभिन्न संगठनों से जुड़े लोगों ने उसका हौसला बढ़ाया।

Posted By: Jagran