राउरकेला, जेएनएन। इस बार मंत्री पद से वंचित रह गए सुंदरगढ़ के सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री जुएल ओराम को संसद की प्रतिरक्षा समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। 31 सदस्यीय इस कमेटी में लोकसभा से 21 तथा राज्यसभा से 10 सदस्य हैं। जुएल ओराम के अलावा ओडिशा से बीजद की सांसद राजश्री मल्लिक को भी स्थान मिला है। जबकि कांग्रेस की ओर से राहुल गांधी व अभिषेक मनु सिंघवी को भी समिति में जगह मिली है। इसकी घोषणा होने के बाद सुंदरगढ़ में भाजपाइयों व जुएल ओराम के समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गयी है।

गौरतलब है कि जुएल ओराम लगातार दूसरी बार सुंदरगढ़ से भाजपा के टिकट पर लोकसभा का चुनाव जीते हैं। पिछली बार उन्हें केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्री बनाया गया था। लेकिन इस बार पिछली बार से ज्यादा वोटों से जीतने के बावजूद उन्हें मंत्री पद नहीं मिला। उनकी जगह झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा को यह मंत्रालय दिया गया। इसे लेकर जुएल के समर्थकों में नाराजगी भी देखी गयी थी। ओराम इससे पहले अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में बनी एनडीए की सरकार में भी केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्री रह चुके हैं। हालांकि 2004 का चुनाव जीतने के बाद उन्हें 2009 में शिकस्त झेलनी पड़ी थी। लेकिन 2014 में फिर से वापसी करने के बाद उन्होंने जीत का सिलसिला 2019 में भी जारी रखा है। प्रतिरक्षा समिति बेहद अहम संसदीय समितियों में एक है।

सफाई के बहाने डेढ़ लाख के गहने साफ, जानें कैसे बनाया ठगों ने बेवकूफ

मुख्यमंत्री रूपाणी ने दी चेतावनी कहा, पीओके को खोने के लिए तैयार हो जाए पाक

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप