जासं, राउरकेला : शहर स्थित जयप्रकाश हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर चिकित्सा सेवा में नित नए आयाम गढ़ रहा है। इसी कड़ी में अस्पताल के चिकित्सकों ने एक जच्चा-बच्चा को फिर नई जिंदगी दी है। अस्तपाल प्रबंधन के अनुसार, एक गर्भवती महिला जिसका ह्रदय महज 30 फीसद का कर रहा था उसे गंभीर अवस्था में भेजा गया था। ह्रदय रोग से पीड़ित उक्त महिला पहले से ही प्रसव पीड़ा में थी। अस्पताल आने पर कोई और परेशानी हो, जच्चा-बच्चा को तत्काल सिजेरियन डिलीवरी से बचाया गया। शिशु का जन्म डॉ. उमा मित्तल, स्त्री रोग विशेषज्ञ और प्रजनन सलाहकार के मार्गदर्शन में हुआ। इसके बाद बच्चे को सुरक्षित करते हुए मां को स्त्री रोग विशेषज्ञ, एनेस्थेसिस्ट, कार्डियोलॉजिस्ट और आइसीयू के डॉक्टर के अगले तीन दिनों तक अथक प्रयास से बचाया गया। जच्चा-बच्चा दोनों सुरक्षित और स्वस्थ हैं तथा उन्हें अस्पताल से छुटटी दे दी गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस