मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, राउरकेला:

दैनिक जागरण का अखिल भारतीय कवि सम्मेलन बुधवार की शाम सेक्टर-5 स्थित भंज भवन ऑडोटोरियम में आयोजित रहा। इस कवि सम्मेलन में राष्टीय व अंतरराष्ट्रीय कवियों को सुनने के लिए श्रोताओं की भीड़ उमड़ी। कवियों के हर मुक्तक, हर गीत का स्वागत श्रोताओं ने तालियों की गड़गड़ाहट के साथ किया। वहीं हास्य-व्यंग्य की कविता पर पूरे भवन में खिलखिलाहट गूंजती रही। कवि गजेंद्र सोलंकी द्वारा संचालित इस कवि सम्मेलन में कवि डॉ. विष्णु सक्सेना की चार-चार पंक्तियों में गूंथीं मुक्तकों में जख्म मिल जाये तो मरहम खरीद सकता हूं, यह मानता हू् कि मैं दौलत नहीं कमा पाया, मगर तुम्हारा हरेक गम खरीद सकता हूं.. ने श्रोताओं की खूब तालियां बटोरी। अन्य कवियों में कवियित्री डॉ.सुमन दुबे के गीत खुशबू का चमन, गुनगुनाती पवन.., डॉ. सुरेश अवस्थी की नोट बंदी, बाबा बंदी से लेकर पत्नी बंदी पर आधारित हास्य-व्यंग्य कविता, बलवीर ¨सह खिचड़ी की मन को छूने लेनेवाली कविता व संचालक गजेंद्र सोलंकी की कविताओं ने खूब वाहवाही बटोरी। इससे पूर्व कवि सम्मेलन का शुभारंभ मुख्य अतिथि पानपोष सब-कलेक्टर हिमांशु शेखर बेहरा ने किया। अन्य अतिथियों में राउरकेला स्टील प्लांट (आरएसपी) के सीओसी रमेंद्र कुमार, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. विश्वजीत महापात्र, राउरकेला वकील संघ के अध्यक्ष सत्य शर्मा सहित दैनिक जागरण जमशेदपुर यूनिट के संपादक शशि शेखर, एजीएम दिलावर साहू, मार्के¨टग मैनेजर मनोज सिन्हा प्रमुख शामिल रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप