जागरण संवाददाता, राउरकेला : राउरकेला इस्पात संयंत्र (आरएसपी) के जनसंपर्क विभाग की राजभाषा यूनिट द्वारा सिविक सेंटर में आयोजित नाटक संध्या में दिलचस्प अभिनय, प्रभावशाली निर्देशन, मनोरंजक पटकथा, उत्कृष्ट मंचकला और सर्वोपरि दर्शकों की उत्साहपूर्ण प्रतिक्रिया समारोह की सफलता को दर्शाता है। इस अवसर पर मुख्य अतिथि आरएसपी सीईओ दीपक चट्टराज समेत दीपिका महिला संघति की अध्यक्षा तथा महाप्रबंधक आंतरिक लेखा-परीक्षा राका चट्टराज, कार्यपालक निदेशक कार्मिक एवं प्रशासन राज वीर सिंह, कार्यपालक निदेशक व‌र्क्स गौतम बनर्जी, दीपिका महिला संघति की उपाध्यक्ष सुमनलता व अनुराधा बनर्जी, निदेशक प्रभारी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवा डॉ. एसएस पति, आरएसपी के अन्य वरिष्ठ अधिकारी और शहर के उत्साही नाटक प्रेमी उपस्थित थे।

पहला हिन्दी नाटक ग्याब्रिडॉन था। नाटक का मूल कहानी डॉ. प्रदीप भौमिक की थी। जिसे ओबीबीपी के एसओएसटी आलोक जेना ने हिन्दी में अनुवाद किया था। खीरोद कुमार बड़त्या द्वारा निर्देशित इस नाटक मध्यवर्गीय भारतीय परिवार के अमेरिकी दामाद के प्रति दीवानगी पर आधारित था। ओड़िया नाटक क्लान्तपक्षी में बहुत ही गहन तरीके से हमारे समाज के बदलाव को मानसिकता, मूल्यों और महत्वाकांक्षाओं के आधार पर दर्शाया गया। यह नाटक रमेश चंद्र महांती द्वारा निर्देशित और प्रभाकर पात्र द्वारा लिखित पटकथा पर आधारित था। सीईओ दीपक चट्टराज ने दोनों नाटकों से जुड़े कलाकारों की प्रशंसा करते हुए कहा कि नाटकों ने वर्तमान समाज के विभिन्न मुद्दों को प्रभावी ढंग से प्रस्तुत किया। उन्होंने राजभाषा विभाग को हिदी के साथ-साथ ओडिया में भी नाटक आयोजित करने के लिए बधाई देने के साथ राजभाषा और मातृभाषा एक दूसरे के पूरक होने की बात कही। सीईओ ने राउरकेला वासिसयों को नाटक का आनंद लेने के लिए बड़ी संख्या में उपस्थित लोगों का आभार व्यक्त करने के साथ कहा कि यह उनका प्रोत्साहन है जिसने इस्पात शहर को सांस्कृतिक रूप से समृद्ध बनाया है। महाप्रबंधक जनसंपर्क एवं संचार मुख्य रमेंद्र कुमार ने रिश्तों के इर्द-गिर्द घूमते हुए एक विषय पर कविता का पाठ किया। कार्यक्रम का समापन मुख्य अतिथि द्वारा दोनों नाटकों में शामिल विभिन्न कलाकारों को स्मृति चिन्ह प्रदान कर किया गया। स्टील मेल्टिग शॉप- 1 के त्रिलोचन स्वाईं ने दो नाटकों के बीच के अंतराल के दौरान पर्यावरण संरक्षण पर कविताओं का पाठ किया। उप महा प्रबंधक जनसंपर्क अर्चना शतपथी ने जनसमूह का स्वागत किया। वरिष्ठ प्रबंधक (राजभाषा) सुश्री लोलाती टोप्पो ने पुरस्कार वितरण समारोह का संचालन और धन्यवाद ज्ञापित किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस