जासं, राउरकेला : जेपी अस्पताल के डॉ. विश्वजीत महापात्र ने कहा कि कोरोना वायरस के डर से देश का जो वर्तमान परिदृश्य है, वह वास्तव में चिता का विषय है। इस वायरस को लेकर कई तथ्यों पर ठीक से चर्चा नहीं हो रही है, सिवाय एहतियात बरतने के। उन्होंने कहा कि एक डॉक्टर के रूप में, मैं काफी आश्वस्त हूं और यह आश्वासन दे रहा हूं कि पिछले कुछ वर्षों में स्वाइनफ्लू या अन्य वायरल महामारियों की तुलना में कोरोना घातक वायरस नहीं है। यह संक्रामक है, लेकिन अच्छी प्रतिरक्षा प्रणाली वाला व्यक्ति आसानी से बीमारी को शरीर में प्रवेश करने से रोक सकता है। जब पूरी दुनिया लोगों के भीतर इसे लेकर डर पैदा कर रही है। ऐसे में मैं आपके स्वास्थ्य की देखभाल करने, नियमित व्यायाम करने और अच्छी नींद लेने की वकालत कर रहा हूं। डर इम्युनिटी और ब्रेवनेस को कम करता है और सावधानी हमारी इम्युनिटी को बढ़ाती है। उन्होंने कहा कि जेपी अस्पताल के डॉक्टर इस गंभीर बीमारी से राउरकेला के लोगों की देखभाल करने के लिए तैयार हैं। जिन लोगों को कोरोना वायरस का संदेह है, उनके लिए अस्पताल में 4 आइसोलेशन बेड हैं। इसलिए, लोग घबराएं नहीं और हमें किसी भी प्रश्न के लिए कॉल करें या कोरोना वायरस पर मदद करें।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021