जागरण संवाददाता, राउरकेला : राउरकेला-झारसुगुड़ा थर्ड लाइन के लिए बजट में 230 करोड़ रुपये का अनुदान दिया गया है। इसके अलावा बंडामुंडा- राउरकेला फोर्थ लाइन के लिए भी राशि स्वीकृत की गई है। रेललाइन के काम में तेजी आने से शहर के नौ बस्तियों के एक हजार से अधिक परिवारों का हटना तय हो गया है। नगर प्रशासन एवं रेलवे की ओर से उन्हें हटाने के लिए कहा गया है एवं इलाके में निशान भी लगाए गए हैं।

राउरकेला-झारसुगुड़ा तक थर्ड लाइन निर्माण के लिए झारसुगुड़ा से बामड़ा तक काम हुआ है। वहीं राउरकेला के पानपोष में ब्राह्मणी नदी पर पुल निर्माण का काम पूरा हो गया है। पानपोष से राउरकेला तक काम होना बाकी है। इसके लिए रेलवे की ओर से 60 फीट जगह खाली करने को कहा गया है एवं प्रशासन से सहयोग मांगा गया है। इससे पहले रेलवे की ओर से मालगोदाम बस्ती में जगह खाली कराया गया था। शेष नौ बस्तियों के करीब एक हजार घरों को हटने में अडंगा तथा मामला हाई कोर्ट में जाने के चलते काम रुका हुआ है। इस बीच कोर्ट ने रेलवे के पक्ष में फैसला सुनाया है। इसके बाद कई चरणों में रेलवे एवं प्रशासन की बैठक हो चुकी है एवं सहयोग का भरोसा मिलता रहा है। राशि की स्वीकृति के बाद कुम्हारपाड़ा, बिरजापाली, गंगाधरपल्ली, कोयल बैंक, एफसीआइ बस्ती, शिवशंकर बस्ती को खाली करना होगा।

स्वीकृत राशि : आर्थिक वर्ष में रेल बजट में ओडिशा के प्रमुख रेल मार्ग के दोहरीकरण एवं विकास पर कुल 6,995.58 करोड़ रुपये मिले हैं। बहुप्रतीक्षित तालचेर- विमलागढ़ नई रेल लाइन के लिए फिर से 10 करोड़ रुपये दिए गए हैं। इसी प्रकार मनोहरपुर-बंडामुंडाथर्ड लाइन के लिए 40 करोड़, राउरकेला झारसुगुड़ा थर्ड लाइन के लिए 230 करोड़, बंडामुंडा-रांची डबल लाइन के लिए 32 करोड़ का अनुदान मिला है। बंडामुंडा-राउरकेला फोर्थ लाइन के लिए 20 करोड़, चंपाझरन- बिमलागढ़ 21 किलोमीटर रेल लाइन के लिए 2 करोड़, डुमेरता-बिसरा लिक लाइन के लिए 27 करोड़ रुपये की स्वीकृति मिली है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021