भुवनेश्वर, जेएनएन। स्वच्छ भारत अभियान को बल देते हुए पूर्वतट रेलवे के पुरी रेलवे स्टेशन में बॉटल री-साइक्लिंग मशीन लगाई गई। इस मशीन के लग जाने से पवित्र पुरी शहर के रेलवे स्टेशन परिसर और रेल पटरियों को प्लास्टिक कचड़े से मुक्ति मिलेगी। 

इस मशीन को लगाने का उद्देश्य लोगों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता लाना और प्लास्टिक का शत प्रतिशत री-साइक्लिंग करना है। पुरी रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म संख्या तीन व चार तथा प्लेटफॉर्म संख्या सात व आठ पर इस तरह की दो मशीनें लगाई गई है।

इस हरित पहल के बाद रेल पटरियों पर प्लास्टिक के बॉटल अतीत की बात हो जाएगी। इस मशीन में केवल प्लास्टिक का बॉटल ही डाला जा सकेगा। इन री-साइक्लिंग बॉटल की आपूिर्त फाइबर उत्पादकों को की जायेगी, जो इसका उपयोग कपड़े, कालीन, प्लास्टिक थैले आदि बनाने में उपयोग करेंगे। स्वच्छ भारत अभियान के इस प्रयास में शामिल होने के लिए प्रोत्साहन के तौर पर यात्रियों के फ्री मोबाइल एप में प्रति बॉटल 10 रुपये के हिसाब से राशि जमा की जायेगी।

इस मशीन की परिकल्पना और विकास एक निजी कंपनी ने प्लास्टिक बॉटल कचड़ा प्रबंधन के लिए किया है। इस पहल की सफलता पर पूर्वतट रेलवे की ओर से अपने पूरे क्षेत्राधिकार के स्टेशनों में इस मशीन को लगाया जायेगा।

Posted By: Babita