जागरण संवाददाता, भुवनेश्वर : पुरी में सरकारी भूमि घोटाले के आरोपी राज्य सरकार के राजस्व मंत्री महेश्वर मंत्री की गिरफ्तारी की मांग को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट सामने जमकर नारेबाजी करते हुए विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान भाजपाइयों ने बेरीकेडिंग तोड़ते हुए कलेक्टर ऑफिस में घुसने का प्रयास किया। इसे लेकर पुलिस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई की नौबत बन गई। अफरातफरी के बीच एक सिपाही गिरिजा नंदन पटनायक व एक महिला सिपाही समेत एक भाजपा कार्यकर्ता घायल हो गए, जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल ले जाना पड़ा।

प्रदर्शनकारी भाजपा कार्यकर्ता जिला कलेक्टर अर¨वद अग्रवाल और पुलिस अधीक्षक के तबादले की मांग कर रहे थे। उनका कहना है कि जिला प्रशासन राजस्व मंत्री महेश्वर महांती के प्रति काफी नरम है और उन्हें बचाने की कोशिश कर रहा है।

इस प्रदर्शन का नेतृत्व भाजपा पुरी अध्यक्ष प्रभंजन महापात्रा, प्रदेश सचिव बिरंचि नारायण त्रिपाठी, महिला मोर्चा की सचिव प्रभाती परीड़ा, किसान मोर्चा के सूर्य विश्वाल ने किया। बाद में भाजपाइयों ने कलेक्टर अर¨वद अग्रवाल की अनुपस्थित में एसडीएम को मांगपत्र सौंपा। इसमें भूमि घोटाले में मंत्री पर कार्रवाई की मांग की गई है। नेताओं ने कहा है कि महांती को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर उनपर मुकदमा चलाकर जेल भेजा जाए।

उल्लेखनीय है कि राज्य के राजस्व मंत्री महेश्वर महांती पर भाजपा का आरोप है कि पुरी नगरपालिका के चेयरमैन पद पर रहते हुए 1985 से 1995 के बीच यानी दस साल में महेश्वर महांती ने 200 एकड़ सरकारी भूमि बिल्डरों, होटल मालिकों तथा प्रभावशाली नौकरशाहों के नाम पर लीज पर दे दी थी। इसकी विजिलेंस जांच भी चल रही है। इधर, महांती ने इस प्रकरण पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया है।

Posted By: Jagran